गणेश जी की आरती | श्री गणेश जी की सबसे प्रसिद्ध आरती

Ganesh Ji KI Aarti
Ganesh Ji KI Aarti
Jai Ganesh aarti with lyrics
Jai Ganesh aarti with lyrics

हमारे सभी पाठकों को हमारा सादर प्रणाम आज हम आप सभी के लिए विघ्नहर्ता श्री गणेश की प्रसिद्ध आरती गणेश जी की आरती लेकर आए हैं। जैसा कि हम सब जानते हैं कि भगवान श्री गणेश प्रथम पूजनीय है और उन्हें विघ्नहर्ता के नाम से भी जाना जाता है, उन्हें विघ्नहर्ता इसलिए कहा जाता है क्योंकि भगवान श्री गणेश के स्मरण मात्र से इंसान के जीवन में आने वाले सभी विघ्न, कष्ट भगवान श्री गणेश स्वयं हर लेते हैं। शायद आप में से कई लोग इस बात को ना जानते हो पर भगवान श्री गणेश को वैदिक देवता की उपाधि भी प्राप्त है क्योंकि भगवान श्री गणेश के समस्त मंत्रों का उल्लेख ऋग्वेद और यजुर्वेद में भी है।

भगवान शिव को सबसे प्रिय है ये आरती | Shiv ki aarti

गणेश जी की आरती – हमारे हिंदू धर्म में जो प्रमुख पांच देव शामिल हैं जिसमें शिवजी विष्णु जी दुर्गा जी सूर्य देव और गणेश जी का भी उल्लेख आता है और इसी बात से हम गणेश जी की महिमा और उनके महत्व का साफ पता चलता है।

इन्हें श्री गणेश इसलिए कहा जाता है क्योंकि यह देवगण और शिवगण दोनों गणों के स्वामी हैं, इनके नाम का अर्थ भी इस प्रकार है ‘गण’ का अर्थ होता है समुदाय या कोई वर्ग और ‘ईश’ का अर्थ होता है स्वामी।

गणेश जी की आरती

गणेश जी की आरती
गणेश जी की आरती

जय गणेश जय गणेश,
जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,
पिता महादेवा ॥

एक दंत दयावंत,
चार भुजा धारी ।
माथे सिंदूर सोहे,
मूसे की सवारी ॥

जय गणेश जय गणेश,
जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,
पिता महादेवा ॥

पान चढ़े फल चढ़े,
और चढ़े मेवा ।
लड्डुअन का भोग लगे,
संत करें सेवा ॥

जय गणेश जय गणेश,
जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,
पिता महादेवा ॥

अंधन को आंख देत,
कोढ़िन को काया ।
बांझन को पुत्र देत,
निर्धन को माया ॥

जय गणेश जय गणेश,
जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,
पिता महादेवा ॥

‘सूर’ श्याम शरण आए,
सफल कीजे सेवा ।
माता जाकी पार्वती,
पिता महादेवा ॥

जय गणेश जय गणेश,
जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,
पिता महादेवा ॥

दीनन की लाज रखो,
शंभु सुतकारी ।
कामना को पूर्ण करो,
जाऊं बलिहारी ॥

जय गणेश जय गणेश,
जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,
पिता महादेवा ॥

Jai Ganesh aarti with lyrics in english

गणेश जी की आरती
गणेश जी की आरती

Jai Ganesh Jai Ganesh,
Jai Ganesg Deva ।
Mata Jaki Parwati,
Pita Maha Deva ॥

Ek Dant Daya Want,
Char Bhuuja Dhari ।
Mathe Sindor Shoye,
Muse Ki Sawari ॥

Jai Ganesh Jai Ganesh,
Jai Ganesg Deva ।
Mata Jaki Parwati,
Pita Maha Deva ॥

Pan Chadhe Phool Chadhe,
Aur Chadhe Mewa ।
Laduan Ko Bhog Lage,
Sant Kare Sewa ॥

Jai Ganesh Jai Ganesh,
Jai Ganesg Deva ।
Mata Jaki Parwati,
Pita Maha Deva ॥

Andhan Ko Aankh Det,
Kodhin Ko Kaya ।
Bajhan Ko Purta Det,
Nirdhan Ko Maya॥

Jai Ganesh Jai Ganesh,
Jai Ganesg Deva ।
Mata Jaki Parwati,
Pita Maha Deva ॥

‘sur’ Shaam Sharan Aaye,
Safal Ki Jiye Sewa ।
Mata Jaki Parwati,
Pita Maha Deva ॥

Jai Ganesh Jai Ganesh,
Jai Ganesg Deva ।
Mata Jaki Parwati,
Pita Maha Deva ॥

Deenan Ki Laaj Rakho,
Shambhu Sutakari ।
Kamana Ko Poorn Karo,
Jaoon Balihari ॥

Jai Ganesh Jai Ganesh,
Jai Ganesg Deva ।
Mata Jaki Parwati,
Pita Maha Deva ॥

भगवन श्री गणेश का महत्व, Importance of Ganesh

हमारे हिंदू शास्त्रों तथा पुराने ग्रंथों में कई ऐसे साक्ष्य मौजूद हैं जो यह साबित करते हैं कि भगवन श्री गणेश जी प्रथम पूजनीय देव है और यही एक वजह है कि किसी भी मंगल कार्य या शुभ कार्य को शुरू करने से पहले श्री गणेश यानी विघ्नहर्ता की पूजा अर्चना की जाती है उसके पश्चात ही शुभ कार्य की शुरुआत की जाती है और यही एक सबसे बड़ी वजह है कि प्रत्येक हिंदू मंत्रों के आरंभ में ‘ॐ’ का उच्चारण करना अनिवार्य है।

क्योंकि आप सभी इस बात को जानते होंगे श्री गणेश प्रथम पूजनीय हैं और उन्हें यह वरदान साक्षात भगवान शिव ने दिया था इसलिए हमारे हिंदू रीति-रिवाजों में हम किसी भी शुभ कार्य को शुरू करने से पहले भगवान श्री गणेश का स्मरण करते हैं और उनसे इस बात का आशीर्वाद मांगते हैं कि हमारे हर कार्य में आने वाले विघ्नों को दूर करें और हमारे कार्य को शुभदा प्रदान करें।

भगवन श्री गणेश के कुछ प्रमुख नाम, Famous names of Ganesh

अन्य देवी-देवताओं की तरह भगवान श्री गणेश को भी कई नामों से जाना जाता है जिनमें से कुछ प्रसिद्ध और प्रमुख नाम इस प्रकार हैं –

  1. एकदंत
  2. विघ्नहर्ता
  3. गजानन
  4. विनायक
  5. गजानन
  6. विघ्न विनाशक
  7. भालचंद्र
  8. लंबोदर
  9. कपिल
निष्कर्ष, conclusion

आज हमने जो गणेश जी की आरती यहां प्रस्तुत की है यह आरती काफी प्रसिद्ध और शक्तिशाली है, आज के इस भागदौड़ भरे आधुनिक युग में भले ही कई लोग इस बात को ना मानते हो पर अगर सच्चे मन से जो भी इंसान इस गणेश जी की आरती के साथ भगवान श्री गणेश की पूजा अर्चना करता है और अपनी मनोकामना उनके सामने प्रस्तुत करता है तो यकीन मानिए भगवान श्री गणेश स्वयं उसकी सारी मनोकामनाएं पूर्ण करते हैं और उसके जीवन में आने वाले सभी कष्टों और विघ्नों को दूर करते हैं.

अगर आपके भी जीवन में कोई समस्या है जिसका समाधान आपको नहीं मिल पा रहा है तो हमारी सलाह आपको यही होगी कि आप अपनी समस्याएं भगवान श्री गणेश की चरणों में अर्पित करें और सच्चे मन से उनकी पूजा-अर्चना करें और अपनी मनोकामनाएं उनके सामने प्रस्तुत करें आप यकीन नहीं करेंगे अगर आपने सच्चे मन से भगवान श्री गणेश की पूजा अर्चना की तो कुछ ही समय में आपको इस शुभ परिणाम जरूर मिलेंगे.

जय श्री गणेश ।
जय महाकाल ॥

1 thought on “गणेश जी की आरती | श्री गणेश जी की सबसे प्रसिद्ध आरती”

  1. Mira Crislip

    Right here is the perfect webpage for everyone who really wants to understand this topic. You realize a whole lot its almost tough to argue with you. You certainly put a new spin on a subject that’s been discussed for a long time. Great stuff, just wonderful!|

Leave a Comment

Your email address will not be published.