प्रेत बाधा से मुक्ति के उपाय और अचूक टोटके जो देते है 100% परिणाम

प्रेत बाधा से मुक्ति के उपाय

प्रेत बाधा से मुक्ति के उपाय के कुछ महत्वपूर्ण और प्रचंड तांत्रिक तरीके आज हम आपको इस अध्याय में बताने जा रहे हैं जिनका उपयोग करके आप अपने और अपने परिवार या अपने पूरे घर की रक्षा कर सकते हैं और प्रेत बाधा या ऊपरी बाधा या किसी भी प्रकार की नकारात्मक ऊर्जा को अपने और अपने परिवार के जीवन से हमेशा के लिए दूर करने में सक्षम हो सकते हैं।

सोया हुआ भाग्य जगाने के उपाय जो कभी असफल नहीं होते

प्रेत बाधा या जिसे हम ऊपरी बाधा भी कहते हैं एक ऐसी समस्या है जिस से छुटकारा पाने के लिए लोग अनेकों तांत्रिक या पंडितों के चक्कर लगाते रहते हैं पर फिर भी उन्हें इस समस्या का समाधान नहीं मिलता है और उनका पूरा जीवन नर्क के समान नष्ट होने लगता है। आज के हमारे इस अध्याय में हम आपको प्रेत बाधा से मुक्ति के लिए कुछ ऐसे अचूक उपाय और टोटके बताने जा रहे हैं जिनका प्रयोग करना आसान है और जिससे आप आसानी से अपने घर में करके प्रेत बाधा से हमेशा के लिए मुक्ति पा सकते हैं और एक खुशहाल और सुखी जीवन जी सकते हैं।

आज के अध्याय को शुरू करने से पहले मैं आप सब से निवेदन करूंगा कि अगर आप प्रेत बाधा या किसी भी प्रकार की ऊपरी बाधा या नकारात्मक उर्जा से परेशान है और उससे मुक्ति पाना चाहते हैं तो अपनी समस्या हमारे साथ जरूर साझा करें हम आपको पूरा विश्वास दिलाते हैं कि आपकी हर समस्या का समाधान निकालने के लिए पूरी कोशिश करेंगे।

प्रेत बाधा होने के लक्षण

प्रेत बाधा होने के लक्षण

प्रेत बाधा से मुक्ति के उपाय जानने से पहले आपको प्रेत बाधा होने के लक्षण जानना जरूरी है तभी आप समझ पाएंगे कि आपको या आपके परिवार में किसी को कोई प्रेत बाधा की समस्या है जिसके कारण आप कई सारी परेशानियों का सामना कर रहे है। तो आइए सबसे पहले जान लेते हैं कि प्रेत बाधा होने से इंसान में क्या क्या लक्षण दिखाई देते हैं।

घर में लड़ाई झगड़ा रोकने के उपाय, घर में हमेशा रहेगी सुख शांति और समृद्धि.

  1. ऊपरी बाधा होने पर इंसान हमेशा क्रोधित रहता है और हमेशा अकेला रहना पसंद करता है।
  2. ऊपरी बाधा से ग्रसित व्यक्ति के मुंह और शरीर से हमेशा दुर्गंध आती है और उसके शरीर में अचानक से इतनी शक्ति आ जाती है कि वह अपने से दुगना भार भी उठा सकता है।
  3. पीड़ित व्यक्ति किसी भी काम को करने के लिए हमेशा आलस्य दिखाता है।
  4. प्रेत बाधा से पीड़ित व्यक्ति को हमेशा भूख ज्यादा लगती है और मांस मदिरा का भी सेवन ज्यादा करने लगता है।
  5. ऐसा व्यक्ति कभी किसी का आदर नहीं करता और हमेशा कठोर वचन ही बोलता है।
  6. अगर घर में प्रेत बाधा की समस्या हो तो घर में धन की कमी होनी शुरू हो जाती है और परिवार में रोज लड़ाई झगड़े और तनाव की स्थिति उत्पन्न होती है।
  7. व्यापार व्यवसाय में नुकसान होना शुरू हो जाता है और बनते हुए काम भी बिगड़ने लगते हैं।
  8. परिवार के हर सदस्य की सेहत हमेशा खराब रहने लगती है और मानसिक तनाव भी ज्यादा रहता है।

एक बात का विशेष ध्यान रखें कि ऊपर बताए गए सभी लक्षण कभी-कभी स्वास्थ्य से संबंधित भी होते हैं, इसलिए सर्वप्रथम डॉक्टर से परामर्श जरूर करें और दवाइयों को लेने के बाद भी अगर कोई आराम ना मिले तभी इन उपायों को अपनाएं।

प्रेत बाधा से मुक्ति के उपाय

प्रेत बाधा से मुक्ति के उपाय

प्रेत बाधा से मुक्ति के लिए यह सबसे सरल और प्रभावशाली तांत्रिक उपाय है जिसे आप आसानी से अपने घर में भी कर सकते हैं और जिसके प्रयोग से आपके या आपके परिवार में कोई भी प्रेत बाधा की समस्या होगी तो उससे आपको आसानी से मुक्ति मिल जाएगी।

इस उपाय को केवल मंगलवार या शनिवार के दिन ही करें, सबसे पहले मंगलवार या शनिवार की शाम को घर में हनुमान जी के सामने घी का दीपक जलाएं और 51 साबुत लाल मिर्च और 51 साबुत काली मिर्च के दानों को ले और इसे अपने दोनों हाथों पर रखकर हनुमान जी के सामने बैठकर हनुमान चालीसा का एक पाठ करें और उसके बाद इस लाल मिर्च और काली मिर्च को पीड़ित व्यक्ति के सर से लेकर पैर तक 51 बार घुमाएं और घुमाते समय “ॐ श्री हनुमते नमः” का जाप करते रहें।

51 बार घुमाने के बाद इन सामग्रियों को अपने घर के बाहर ले जाकर आम की लकड़ियों के ऊपर रखकर जला दें, एक बात का विशेष ध्यान रखें कि जलाने के लिए केवल आम की लकड़ियों का ही प्रयोग करें और इन सामग्रियों को जलाने के बाद इनका धुआ आपके घर में प्रवेश ना करें इसलिए कोशिश करें कि जलाने के लिए अपने घर से थोड़ा दूर जाएं और इसे जलाने के बाद बिना पीछे मुड़े अपने घर वापस आ जाएं और साफ-सुथरे पानी से स्नान करें।

भूत प्रेत से छुटकारा पाने का उपाय

भूत प्रेत से छुटकारा पाने का उपाय

ऊपरी बाधा या प्रेत बाधाओं को दूर करने के लिए यह उपाय भी काफी कारगर सिद्ध होता है और इस उपाय को भी आप अपने घर में आसानी से कर सकते हैं, इस उपाय को आप महीने के किसी भी दिन कर सकते हैं इसे करने के लिए दिन और समय की कोई सीमा नहीं है।

प्रेत बाधा से मुक्ति के इस उपाय को करने के लिए सर्वप्रथम एक काला चौकोर कपड़ा ले और उस कपड़े के ऊपर अपने रसोईघर से तीन मुट्ठी चावल, 51 लौंग और एक पीला नींबू रखकर उस काले कपड़े की पोटली बना ले और उस पोटली को लेकर पीड़ित व्यक्ति के सर के ऊपर से घड़ी की दिशा में 21 बार घुमाएं और घुमाते समय “ॐ ह्रीं फट स्वाहा” का 21 बार जाप भी करें।

उसके बाद इस पोटली को जाकर किसी ऐसी जगह फेंके जहां काफी गंदगी और कचरा पड़ा रहता हो और इस पोटली को फेंकने के बाद तीन बार थूके और फिर बिना पीछे मुड़े और बिना किसी से बात किए हुए अपने घर वापस आ जाए। घर वापस आने के बाद दूसरे दिन अपने घर के आंगन में एक तुलसी का पौधा अवश्य लगाएं और 21 दिनों तक या हो सके तो रोज पीड़ित व्यक्ति द्वारा उस तुलसी के पौधे के सामने एक दीपक अवश्य जलाएं।

यह काफी कारगर और अचूक उपाय है प्रेत बाधा से मुक्ति के लिए जो कभी असफल नहीं होता।

प्रेत बाधा शांति के उपाय

शांति के उपाय

प्रेत बाधा की शांति या मुक्ति के लिए ऊपर बताए गए उपायों को अगर आप करने में असमर्थ हैं तो हमारी सलाह होगी कि प्रेत बाधा से मुक्ति के लिए आप 11 शनिवार या मंगलवार को हनुमान जी के मंदिर जाएं और हनुमान जी के सामने बैठकर सबसे पहले एक पाठ हनुमान चालीसा का एक पाठ करें और उसके पश्चात एक पाठ बजरंग बाण का करें और उसके बाद हनुमान जी की भुजा की तिलक को लेकर अपने माथे पर लगाएं और हनुमान जी से प्रार्थना करें कि आपके और आपके परिवार के जीवन में जो भी प्रेत या ऊपरी बाधा की समस्या है उससे जल्द से जल्द छुटकारा देने का आशीर्वाद प्रदान करें।

आज के इस आधुनिक दौर में कई लोग ऐसे भी हैं जो हनुमान चालीसा और बजरंग बाण के पाठ को काफी सरलता से लेते हैं और इनकी शक्ति को पहचानने में असमर्थ होते हैं, पर हम अपने अनुभव से इस बात को आप के साथ साझा कर रहे हैं कि हनुमान चालीसा और बजरंग बाण का पाठ किसी भी प्रेत बाधा या ऊपरी बाधा से मुक्ति के लिए रामबाण इलाज है. जो भी इंसान सच्चे मन से हनुमान चालीसा और बजरंग बाण का पाठ करता है उसके ऊपर किसी भी प्रकार की कोई भी ऊपरी बाधा या तांत्रिक क्रिया का असर नहीं होता और वह एक खुशहाल और सुखमय जीवन जीता है।

प्रेत बाधा से मुक्ति के लिए लौंग के उपाय

इस उपाय का उपयोग आज भी भारत के ग्रामीण क्षेत्रों में किया जाता है और ऐसा माना जाता है कि जिस घर में इस उपाय को किया जाता है उस घर में कभी भी किसी की नजर नहीं लगती और ना ही किसी प्रेत बाधा की समस्या होती है। इस उपाय को लगातार 11 दिनों तक करने से ही राहत मिलती है पर अगर आप चाहते हैं कि आपके घर में हमेशा सुख शांति बनी रहे तो इसे आप रोज भी कर सकते हैं।

प्रेत बाधा से मुक्ति के लिए रोज रात को भोजन करने के बाद एक चांदी के कटोरे में 3 लौंग, थोड़ी सी गुग्गल या धूप, एक कपूर इन सब को जलाकर अपने पूरे घर में इनकी धूनी दीजिए। धोनी देते समय एक बात का ध्यान रखें कि अपने घर के खिड़की दरवाजे खुले रखें तभी यह उपाय काम करेगा अन्यथा घर की नकारात्मक ऊर्जा घर में ही रह जाएंगी।

इस उपाय को लगातार 11 दिन करने से राहत मिलती है पर अगर आप चाहें तो इसे रोज कर सकते हैं, जिस घर में इस उपाय को रोज किया जाता है उस घर में हमेशा सुख शांति बनी रहती है और उस घर को किसी की नजर नहीं लगती और ना ही प्रेत बाधा की समस्या उत्पन्न होती है।

प्रेत बाधा से मुक्ति के अचूक उपाय और टोटके

हमारे तंत्र शास्त्र में कई सारे टोटके का भी जिक्र है जिनका उपयोग करके आप प्रेत बाधा से मुक्ति पा सकते हैं, यह टोटके काफी सरल होते हैं पर इनका असर काफी प्रभावशाली होता है।

  1. रात को सोने से पहले अपनी रसोई से एक लोटा पानी लेकर उसे अपने सिरहाने रख कर सोएं और सुबह इस जल को पीपल या बरगद के वृक्ष की जड़ में चढ़ा दें, ऐसा लगातार 7 दिनों तक करने से प्रेत या ऊपरी बाधा से मुक्ति मिलती है।
  2. शनिवार या मंगलवार को हनुमान जी के मंदिर जाकर उनके चरणों से सिंदूर लेकर एक नारियल के ऊपर स्वास्तिक बनाएं और इस नारियल को अपने घर के पूजा गृह में रखने से समस्त बाधाओं और ऊपरी हवा से मुक्ति मिलती है।
  3. शनिवार के दिन शनि मंदिर जाकर कोई भी लोहे की वस्तु अपने सर के ऊपर से 11 बार वार कर शनि जी के चरणों में दान करने से भी प्रेत बाधा का निवारण होता है।
  4. शुक्रवार रात को सोते समय अपने तकिए के नीचे एक रुपए के 11 सिक्कों को रखकर सोए और दूसरे दिन सुबह उठकर बिना नहाए शमशान जाकर इन सिक्कों को श्मशान के अंदर फेंक दें और घर आकर स्नान करके अपने पूजा गृह में अपने इष्ट देव की पूजा करने से भी राहत मिलती है।
  5. पुष्य नक्षत्र को धतूरे का एक पौधा लेकर आए और उसे अपने घर के आंगन में उल्टा लगाएं यानी जड़ ऊपर रहे और बाकी पौधा जमीन के अंदर नीचे दबा दें ऐसा करने से भी घर की सारी नकारात्मक ऊर्जा और प्रेत बाधाएं दूर हो जाती है।
  6. धतूरा और बेलपत्र को एक साथ पीस लें और इसका रोज तिलक करने से भी कई ऊपरी बाधाओं से मुक्ति मिलती है।
निष्कर्ष

तो यह थे प्रेत बाधा से मुक्ति के उपाय जिनका इस्तेमाल करके आप अपने और अपने परिवार की रक्षा कर सकते हैं, मुझे पूरी उम्मीद है कि आप इन उपायों को जरूर आजमाएंगे और अगर हमारे द्वारा बताए गए इन उपायों में आपको कोई शंका है या कोई बात समझ में ना आए हो तो आप निसंकोच होकर हमसे संपर्क कर सकते हैं और अपनी समस्या हमारे साथ साझा कर सकते हैं, आपकी हर समस्या का समाधान जल्द से जल्द निकालने की हम पूरी कोशिश करेंगे।

और हर बार की तरह मैं फिर आप सब से विनम्र निवेदन करूंगा कि अगर आपके या आपके परिवार में कोई ऐसी समस्या है जिसका समाधान आपको नहीं मिल पा रहा है और आप काफी जीवन में दुखी हो तो एक बार हमसे संपर्क जरुर करें और अपनी परेशानी भी हमारे साथ जरूर साझा करें, अपनी परेशानी साझा करते वक्त अपनी परेशानियां विस्तार में लिखें और अपनी जन्म तारीख, जन्म समय, जन्म स्थान और अपना पूरा नाम जरूर लिखें।

महाकाल आप सबका कल्याण करें.

जय महाकाल.

गुप्त टोटके जो करे हर समाया का अंत, 06 शक्तिशाली टोटके.

Leave a Comment

Your email address will not be published.