नींबू से शत्रु का नाश करने के 04 तीव्र तांत्रिक मंत्र

नींबू से शत्रु का नाश

नींबू से शत्रु का नाश कैसे किया जाता है और किस प्रकार आप एक साधारण से दिखने वाले नींबू का उपयोग करके अपने शत्रु से जीवन भर के लिए छुटकारा पा सकते हैं इसी की संपूर्ण जानकारी आज हम आपको अपने इस लेख के द्वारा देने जा रहे हैं और अगर आप भी अपने शत्रुओं से काफी अधिक परेशान हैं तो आप हमारे द्वारा बताए गए इन मंत्र और टोटकों का उपयोग करके सदैव के लिए अपने शत्रु से छुटकारा पा सकते हैं। पर हमारे आज के इस अध्याय को शुरू करने से पहले मैं हाथ जोड़कर आप सब से विनती करूंगा कि हमारे द्वारा बताए गए इन मंत्रों को उपयोग किसी को बेवजह परेशान करने के लिए बिल्कुल भी ना करें।

अमावस्या के दिन धन लाभ के उपाय, 06 अचूक उपाय

अगर आप भी काफी अधिक समय से किसी शत्रु से पीड़ित हैं तो आप इन उपायों का उपयोग करके अपने शत्रु का नाश करने में सफल हो सकते हैं। नींबू से शत्रु का नाश करने की प्रथा काफी प्राचीन है और आज भी तांत्रिक इस प्रक्रिया का उपयोग करके शत्रुओं का नाश करते हैं।

एक रोटी से शत्रु का नाश करने का तांत्रिक उपाय

तो चलिए सबसे पहले जान लेते हैं कि नींबू से शत्रु का नाश करने का उपाय आप कब और किस प्रकार उपयोग कर सकते हैं।

किस परिस्थिति में करें इन मंत्रों का उपयोग

किस परिस्थिति में करें इन मंत्रों का उपयोग

आज के हमारे इस अध्याय में हम आपको नींबू से शत्रु का नाश करने के 5 मंत्र और विधि बताने जा रहे हैं और इनमें से किसी भी एक विधि का उपयोग करके आप अपने शत्रु पर विजय हासिल करके अपने शत्रु का नाश कर सकते हैं। इन मंत्रों का उपयोग तभी करें जब कोई शत्रु आपको काफी अधिक समय से परेशान कर रहा हो और जिस वजह से आपको काफी अधिक मानसिक और शारीरिक पीड़ा पहुंच रही हो, क्योंकि इन मंत्रों के उपयोग से आपके शत्रु को काफी अधिक कष्ट पहुंचेगा और उनके जीवन में आ रही सारी सफलताएं असफलताओं में बदल जाएंगी और साथ ही साथ उनके व्यापार, व्यवसाय और नौकरी भी इस मंत्र के असर से नष्ट हो जाएंगे।

इसलिए मैं आप सब से फिर एक बार अनुरोध करूंगा कि इन मंत्रों का उपयोग बेवजह किसी आम इंसान को परेशान या कष्ट देने के लिए ना करें, अन्यथा इसके नकारात्मक प्रभाव के जिम्मेदार आप खुद होंगे।

तो चलिए अब जान लेते हैं कि किस प्रकार आप साधारण से दिखने वाले नींबू के उपयोग से अपने शत्रु का नाश कर सकते हैं।

नींबू से शत्रु का नाश करने का सबसे प्रबल मंत्र

नींबू से शत्रु का नाश करने का सबसे प्रबल मंत्र

किसी भी शत्रु से छुटकारा पाने का यह सबसे प्रबल मंत्र है। नींबू से शत्रु का नाश करने का यह मंत्र सुनने और करने में काफी सरल लगता है पर इसके प्रभाव काफी शक्तिशाली होते हैं जिनसे आपका शत्रु का नाश सदैव के लिए हो जाएगा और वह शत्रु फिर जीवन में दोबारा आपको कभी परेशान नहीं करेगा।

इस उपाय को केवल सोमवार के दिन ही करें क्योंकि इसमें बाबा भैरव के मंत्र का उपयोग किया जा रहा है, इस उपाय को करने के लिए सर्वप्रथम सोमवार की शाम सूर्य अस्त होने के बाद एक नींबू के ऊपर काले काजल की मदद से अपने शत्रु का पूरा नाम लिखें और उस नींबू में 03 लौंग गाड़ दे और उसके बाद एक पीपल के पत्ते के ऊपर उसी काजल की मदद से नीचे दिए गए मंत्र को लिखें और मंत्र के बीच में जहां अमुक लिखा है वहां पर अपने शत्रु का पूरा नाम लिखें।

॥ॐ क्षौं क्षौं भैरवाय (अमुक) नाशाय स्वाहा॥

इन दोनों विधि को करने के बाद किसी एकांत स्थान पर उत्तर की ओर मुख करके बैठे और ऊपर दिए गए इस मंत्र का 108 बार जाप करें। मंत्र जाप समाप्त होने के बाद इस नींबू को अपने सर के ऊपर से 3 बार घड़ी की दिशा में घुमाएं और इस नींबू को किसी ऐसी गंदी जगह पर फेके जहां पर काफी अधिक मल मूत्र और कचरा पड़ा रहता हो जहां पर यह नींबू पड़े पड़े सड़ जाए। नींबू को फेंकने के बाद उस पीपल के पत्ते को जला दें और उसकी राख को किसी बहते पानी में प्रवाह कर दें

बस इस सरल से विधि को करने के बाद 10 से 15 दिन के भीतर ही आप देखेंगे कि आपका शत्रु आपसे भयभीत होने लगा है और धीरे-धीरे उसका नाश होने लगा है। एक बात का विशेष ध्यान रखें कि इस उपाय को करने के बाद कम से कम 30 दिन तक इसे दोबारा ना करें।

नींबू और फिटकरी से करें अपने शत्रु का नाश

नींबू और फिटकरी से करें अपने शत्रु का नाश

नींबू और फिटकरी का उपयोग भी काफी अधिक कारगर सिद्ध होता है शत्रुओं का नाश करने के लिए। इस उपाय को करना काफी सरल है और इसे कोई भी आम इंसान अपने घर पर भी कर सकता है।

नींबू से शत्रु का नाश के इस उपाय को आप किसी भी दिन कर सकते हैं इसे करने के लिए सबसे पहले एक नींबू के ऊपर लाल सिंदूर या लाल कलम की मदद से अपने शत्रु का पूरा नाम लिखें और नींबू के दोनों तरफ से एक-एक कील को आरपार गाड़ दें और उसके बाद एक काले कपड़े के अंदर इस नींबू और फिटकरी को रखें और नीचे दिए गए मंत्र का 51 बार जप करके इस काले कपड़े की एक पोटली बना लें।

॥ॐ सः सः शत्रु शमनाय स्वाहा॥

अब इस पोटली को सूर्य अस्त होने के बाद किसी नीम के पेड़ की डंगाल पर लटका दें और पोटली को लटकाते समय मंत्र का जाप निरंतर करते रहें। पोटली को नीम की डंगाल पर लटकाने के बाद बिना पीछे मुड़कर घर वापस आए और अच्छे से हाथ पैर धो ले या स्नान कर ले।

नींबू से शत्रु का नाश करने वाले इस उपाय को करते समय एक बात का विशेष ध्यान रखें कि काली पोटली को नीम की डंगाल पर थोड़ी ऊंचाई पर लटकाए ताकि कम से कम 5 से 10 दिन तक इस पोटली को कोई और व्यक्ति ना निकाल सके।

सिर्फ मंत्रों के जाप से करें अपने शत्रु का नाश

सिर्फ मंत्रों के जाप से करें

अगर आप अपने घर में किसी भी प्रकार के टोटके या उपाय को करने में असमर्थ हैं या आपको किसी भी प्रकार की कोई परेशानी है तो आप सिर्फ मंत्रों का जाप करके भी अपने शत्रु का नाश कर सकते हैं। पर इस मंत्र जाप को करके अपने शत्रु पर विजय प्राप्त करने के लिए आपको इस मंत्र का जाप लगातार 21 दिनों तक करना होगा, आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है यह काफी सरल उपाय और मंत्र हैं जिसे आप बड़ी आसानी से 21 दिनों तक कर सकते हैं।

अपने शत्रु पर विजय प्राप्त करके उन का नाश करने के लिए आपको केवल रोज रात को सोने से पहले नीचे दिए गए इस मंत्र का पूरे एकाग्र मन के साथ 108 बार जाप करना है। मंत्र काफी सरल है और हमारी सलाह होगी कि मंत्रों का जाप करने से पहले इस मंत्र को अच्छे से याद कर ले ताकि आपको मंत्र जाप करते समय किसी भी प्रकार की कोई परेशानी ना हो।

॥ॐ क्रीं क्रीं शत्रु नाशिनी क्रीं क्रीं फट स्वाहा॥

अपने शत्रु का नाश करने के लिए अगर आप पूरे एकाग्र और सच्चे मन से 21 दिनों तक इन मंत्रों का जाप करते हैं तो यकीन मानिए कुछ ही दिनों बाद आप देखेंगे कि आप का शत्रु आपसे दूर भागने लगा है और उसके जीवन में कई प्रकार की परेशानियां आने लगी है जिससे आपका शत्रु मानसिक और शारीरिक रूप से काफी अधिक परेशान होने लगेगा और वह जीवन में दोबारा आपको कभी परेशान नहीं करेगा।

हनुमान जी के टोटके से करें शत्रु का नाश

हनुमान जी के टोटके से करें शत्रु का नाश

जैसे कि हम सब जानते हैं कि महाबली श्री हनुमान अपने सच्चे भक्तों की हमेशा रक्षा करते हैं और अपने आशीर्वाद से अपने भक्तों के जीवन को सदैव खुशहाल और संपन्न बनाते हैं। अगर आप ही अपने शत्रुओं से काफी अधिक रूप से मानसिक और शारीरिक तौर पर पीड़ित है तो हमारी आपको सलाह होगी कि इस उपाय को एक बार जरूर आजमाएं और हमें पूरी उम्मीद है कि इस उपाय को करने के बाद आपको अपने शत्रुओं से जीवन भर के लिए छुटकारा मिल जाएगा।

अपने शत्रु पर विजय हासिल करने के लिए आपको इस उपाय को लगातार तीन शनिवार करना होगा। सबसे पहले शनिवार की शाम 11 पीपल के पत्तों के ऊपर लाल सिंदूर की मदद से श्री राम का नाम लिखें और इन 11 पत्तों की सफेद धागे की मदद से एक माला बनाएं और इसे हनुमान मंदिर लेकर जाए और इसे हनुमान जी को भेंट के रूप में अर्पित करें और उसके बाद हनुमान जी के सामने बैठकर एक पाठ हनुमान चालीसा का और एक पाठ हनुमान अष्टक का पढ़े और उसके बाद हनुमान जी से अपने शत्रु पर विजय प्राप्ति की कामना करें।

जो भी मनुष्य सच्चे मन से इस उपाय को लगातार तीन शनिवार करता है उसे हनुमान जी का आशीर्वाद प्राप्त होता है और यकीन मानिए उसे अपने शत्रुओं पर विजय प्राप्त होती है।

शत्रु को शांत करने का देवी मंत्र

अगर आप चाहते हैं कि आपका शत्रु सदा के लिए शांत हो जाए और आपको परेशान करना बंद कर दे तो आप भी देवी मंत्र का जाप करके भी अपने शत्रु को शांत कर सकते हैं।

॥ॐ महादेवी आदिरूपिणी शत्रु सम्हारिणी नमो नमः॥

जो भी मनुष्य अपने शत्रुओं से छुटकारा पाने के लिए इस मंत्र का लगातार 30 दिनों तक जाप करता है उसे अवश्य ही अपने शत्रु पर विजय प्राप्त होती है और उनके शत्रुओं का नाश होता है. इस मंत्र का उपयोग करना काफी सरल है इसके लिए रोज सुबह स्नान करने के बाद अपने पूजा घर में सबसे पहले अपने इष्ट देव की पूजा करें उसके बाद अपने पूजा घर में ही बैठकर इस मंत्र का 21, 51 या 108 बार जाप करें और अगर आप सक्षम है तो रोज कम से कम आधा घंटा इस मंत्र का जाप करने से आपके जीवन में आने वाले समस्त शत्रुओं का नाश देवी की कृपा से होता है और आपके जीवन में सुख शांति और समृद्धि का आगमन होता है.

निष्कर्ष

नींबू से शत्रु का नाश किस प्रकार करके आप अपने शत्रु पर विजय प्राप्त कर सकते हैं इसी की संपूर्ण जानकारी और मंत्रों की विधि आज हमने आपको इस अध्याय के माध्यम से देने की कोशिश की है जिसका उपयोग आप अपने शत्रु पर विजय प्राप्त करके उसका नाश करने के लिए कर सकते हैं। आज इस संसार में शत्रु की समस्या से हर कोई पीड़ित है और हर व्यक्ति चाहता है कि उसे उसके शत्रु से छुटकारा मिले ताकि वह अपने जीवन में सफलता के मार्ग पर अग्रसर हो सके, इसलिए आप भी अगर अपने किसी शत्रु से काफी अधिक मानसिक और शारीरिक रूप से परेशान हैं तो आप इन उपाय और मंत्रों का प्रयोग करके अपने शत्रु का नाश करके उस पर विजय प्राप्त कर सकते हैं।

पर फिर भी मैं आप सब से हाथ जोड़कर अनुरोध करूंगा कि अगर आपके जीवन में कोई शत्रु है जो आपको काफी अधिक परेशान कर रहा हो तो सर्वप्रथम उस से वार्ता के द्वारा परिस्थिति को संभालने की कोशिश करें और हर संभव प्रयास करने के बाद भी अगर आपका शत्रु शांत नहीं हो रहा है तभी इन मंत्रों का प्रयोग करें क्योंकि यह मंत्र अत्यंत शक्तिशाली हैं और इनका प्रभाव से व्यक्ति के जीवन में काफी अधिक नकारात्मक प्रभाव पड़ता है, जिसकी वजह से उसका जीवन नष्ट हो जाता है और भूल कर भी इस मंत्र का उपयोग अपने स्वार्थ या किसी को परेशान करने के लिए ना करें अन्यथा इसके नकारात्मक प्रभाव आपको जीवन भर झेलने पड़ सकते हैं।

जय महाकाल

Leave a Comment

Your email address will not be published.