नींबू से दो लोगों को अलग करना है आसान, जानिए कैसे करे

नींबू से दो लोगों को अलग करना

नींबू से दो लोगों को अलग करना एक तांत्रिक क्रिया है जिसका उपयोग प्राचीन समय से किया जा रहा है, इस क्रिया में मात्र एक नींबू की मदद से आप दो लोगों के बीच में झगड़ा करा कर उन्हें अलग करने में सक्षम हो सकते हैं। आज के इस अध्याय को शुरू करने से पहले मैं एक बात स्पष्ट करना चाहूंगा कि किसी भी प्रकार के लड़ाई झगड़े को करना या करवाने का हम समर्थन नहीं करते हैं, हमारी दृष्टि में यह पाप है और समाज के दृष्टिकोण से भी यह उचित कार्य नहीं है, पर कई बार हमारे जीवन में कुछ ऐसी समस्या आ जाती है जिसका निवारण करने के लिए हमें दो लोगों के बीच में झगड़ा कराने की आवश्यकता होती है.

एक रोटी से शत्रु का नाश करने का तांत्रिक उपाय

इसीलिए आज जिस क्रिया का हम उल्लेख यहां करने जा रहे हैं उस क्रिया को उपयोग तभी करें जब आपके पास और कोई रास्ता ना बचा हो अन्यथा बेवजह अपने स्वार्थ की पूर्ति के लिए किसी को आपस में ना लड़वाए।

घर में लड़ाई झगड़ा रोकने के उपाय, घर में हमेशा रहेगी सुख शांति और समृद्धि.

हमारे जीवन में कई बार इस प्रकार की परिस्थिति आती है जहां हमारे किसी के साथ कोई मधुर संबंध होते हैं पर किसी तीसरे व्यक्ति या महिला के आगमन से हमारे संबंध बिगड़ जाते हैं जिस वजह से हमें काफी अधिक दुख और मानसिक पीड़ा पहुंचती है. उदाहरण के लिए अगर आप किसी से प्रेम करते हैं और किसी अन्य लड़के की वजह से आपकी प्रेमिका आपको छोड़ कर चली जाती है तो वह एक कष्टदाई स्थिति हो जाती है और ऐसी स्थिति में आप चाहते हैं कि आपकी प्रेमिका और उस अन्य लड़के का आपस में झगड़ा हो जाए जिससे आपकी प्रेमिका आपके पास वापस आ जाए तो आज आप हमारे बताए गए इस क्रिया उपयोग कर सकते हैं। नींबू से दो लोगों को अलग करने का उपाय पति पत्नी द्वारा भी उपयोग में लाया जा सकता है।

नींबू से दो लोगों को अलग करना काफी अधिक शक्तिशाली तांत्रिक क्रिया है जिसका उपयोग अगर सही विधि विधान से किया जाए तो दो लोगों के बीच में झगड़ा आसानी से कराया जा सकता है, पर आज के इस अध्याय को शुरू करने से पहले मैं आप सभी से विनती करूंगा कि इस क्रिया को उपयोग सोच समझकर ही करें क्योंकि जिनके ऊपर भी इस क्रिया को उपयोग किया जाता है वे जीवन भर एक दूसरे का चेहरा तक देखना पसंद नहीं करते. इसलिए इस क्रिया का तभी उपयोग करें जब आपके पास और कोई रास्ता ना बचा हो।

कब करें इस तांत्रिक क्रिया का उपयोग

नींबू से दो लोगों को अलग करना – जैसा कि हमने हमारे लेख के शुरुआत में ही कहा कि किसी के बीच में भी लड़ाई झगड़ा करवाना या दो लोगों को अलग करना धार्मिक और सामाजिक दृष्टि से पाप है पर कई बार ऐसी परिस्थिति आ जाती है जहां पर सब की भलाई के लिए दो लोगों को अलग करने के अलावा और कोई रास्ता नहीं बचता। नींबू से दो लोगों को अलग करने की प्रक्रिया का उपयोग कोई भी कर सकता है, उदाहरण के लिए माता-पिता, भाई-बहन, दोस्त, सगे संबंधी, रिश्तेदार, पति पत्नी आदि।

आज हम आपको जो प्रक्रिया बताने जा रहे हैं उसका उपयोग अगर आप हमारे द्वारा बताए गए विधि विधान के अनुसार करते हैं तो यकीन मानिए कुछ ही दिनों में आप दो लोगों को अलग करने में सक्षम हो पाएंगे और इस क्रिया को करने के बाद दो लोग फिर आपस में कभी एक दूसरे से ना बात करेंगे ना एक दूसरे का चेहरा देखना पसंद करेंगे।

इस तांत्रिक क्रिया को करते समय एक बात का विशेष ध्यान रखें कि अगर जब तक आपका उद्देश्य सच्चा ना हो तब तक आप को इस क्रिया में सफलता नहीं मिलेगी, क्योंकि अगर आपका उद्देश्य गलत हुआ और आप अपने स्वार्थ के लिए किसी दो लोगों को अलग कर रहे हो तो इस तांत्रिक क्रिया के नकारात्मक परिणाम आपको भी भोगने पड़ सकते हैं. इसलिए इन क्रियाओं का उपयोग करने से पहले काफी सोच विचार करें और फिर आगे बढ़े।

नींबू से दो लोगों को अलग करना

नींबू से दो लोगों को अलग करना

तांत्रिक शास्त्र में कई ऐसे विधि हैं जिनका उपयोग करके आप दो लोगों का अलग कर सकते हैं पर उन क्रियाओं को आम आदमी अपने घर में नहीं कर सकता क्योंकि उसमें कुछ आपत्तिजनक वस्तुओं का इस्तेमाल करना पड़ता है जिसका इस्तेमाल आम आदमी अपने घर में नहीं कर सकता, पर आज हम आपको जो नींबू से दो लोगों को अलग करने की जो विधि बता रहे हैं इसे आम आदमी भी आसानी से अपने घर में कर सकता है।

दो लोगों को अलग करने की इस विधि को आप केवल शुक्रवार के दिन ही कर सकते हैं और वह भी रात 10:00 बजे के बाद। नींबू से दो लोगों को अलग करने के लिए आपको कुछ सामग्रियों की आवश्यकता पड़ेगी जो इस प्रकार है :-

  1. एक ताजा पीला नींबू.
  2. एक काली मोमबत्ती.
  3. थोड़ा सरसों का तेल.
  4. एक मिट्टी का दीपक.
  5. अगरबत्ती.
  6. पूजा में उपयोग किया जाने वाला लाल सिंदूर.

इस क्रिया में एक बात का विशेष ध्यान रखें कि इसे घर के अंदर ना करें इसे खुले आकाश के नीचे ही करें अगर आप इस क्रिया को किसी चौराहे पर करते हैं तो इसके परिणाम आपको शीघ्र प्राप्त होंगे पर किसी कारणवर्ष अगर आप इसे चौराहे पर नहीं कर सकते हैं तो किसी सुनसान जगह पर इसे करें.

सबसे पहले किसी सुनसान जगह पर उत्तर पूर्व की ओर मुख करके जमीन पर बैठ जाएं और अपने सामने सबसे पहले दीपक में सरसों का तेल डालकर एक दिया जलाएं और उसके बाद अगरबत्ती जला कर दिए के बगल में गाड़ दें और फिर लाल सिंदूर में थोड़ा सा पानी मिलाकर नींबू के दोनों और उनका नाम लिखे जिन्हें आप अलग करना चाहते हैं एक बात का ध्यान रखें कि नाम इस तरह लिखें कि जब आप नींबू को काटे तो दोनों अलग अलग हो जाएं, नाम लिखने के बाद नींबू को दिए के सामने रखें और उसके बगल में काली मोमबत्ती को जलाकर रखें और नीचे दिए गए मंत्र का 108 बार जाप करें।

॥ ॐ नमो चामुंडे महाहद्रयकांपिनी क्रीं फट स्वाहा ॥

मंत्र जाप समाप्त होने के बाद जब तक आपकी मोमबत्ती जलकर समाप्त नहीं हो जाती तब तक शांत अवस्था में वहीं पर बैठे रहे और जब आपकी मोमबत्ती जलकर समाप्त हो जाए तब उस मोमबत्ती के बचे हुए मोम और नींबू को किसी चौराहे पर लेकर जाएं और चौराहे पर नींबू को रखकर लोहे की चाकू की मदद से मंत्र का जाप करते हुए उस नींबू को 2 टुकड़े में काट दे.

नींबू को काटने के बाद उस नींबू के ऊपर तीन बार थूकें और फिर से 3 बार मंत्र का जाप करके बिना पीछे मुड़े घर वापस आ जाए. एक बात का विशेष ध्यान रखें कि घर वापस आते समय अगर आपको कोई पीछे से आवाज भी दे तब भी आपको पीछे मुड़कर नहीं देखना है अन्यथा आप की क्रिया विफल हो जाएगी। अगर आप सच्चे मन से और सही विधि विधान से इस क्रिया को करते हैं तो 10 से 15 दिन के भीतर ही वह दो लोग आपस में लड़ने लगेंगे और हमेशा के लिए एक दूसरे से दूर हो जाएंगे।

कपूर से दो लोगों को अलग करने का टोटका

कपूर से दो लोगों को अलग करने का टोटका

कपूर का टोटका भी काफी कारगर सिद्ध होता है दो लोगों को अलग करने के लिए और यह प्रक्रिया काफी सरल भी है और इसे आम आदमी आसानी से अपने घर में बिना किसी परेशानियों के कर सकता है, इस क्रिया को आपको लगातार 7 दिनों तक करना है और अगर आप सच्चे मन से और सही उद्देश्य के लिए इस क्रिया को लगातार 7 दिनों तक करते हैं तो यकीन मानिए आप दो लोगों को अलग करने में 100% सक्षम हो पाएंगे। इस टोटके को आप किसी भी दिन कर सकते हैं इसमें दिन और समय की कोई बंधन नहीं है।

जिस भी शुभ दिन से आप भी इस क्रिया को शुरू करना चाहते हैं उस दिन 7 कपूर के दाने ले और हर कपूर के दाने के ऊपर लाल स्याही की मदद से उन दोनों का नाम लिखिए जिन्हें आप अलग करना चाहते हैं और उसके बाद नीचे दिए गए मंत्र का जाप करते हुए एक-एक करके हर कपूर के दाने को जलते जाएं और जब कपूर के दाने जल जाए तो उनकी राख को किसी जगह संभाल कर रखें इस प्रक्रिया को लगातार 7 दिनों तक करें.

॥ ॐ महाभेरवाय शमशानय विद्रेशन कुरू कुरू फट ॥

जब आप के 7 दिनों की प्रक्रिया समाप्त हो जाए तब कपूर की राख को इकट्ठा करें और इस राख को ले जाकर धतूरे के पौधे के जड़ के पास डाल दें। यह काफी अचूक टोटका है दो लोगों को अलग करने का जो हमेशा सफल होता है।

दो लोगों को अलग करने का मंत्र

दो लोगों को अलग करने के लिए यह सबसे सरल प्रक्रिया है जिसे जो भी इंसान सच्चे मन से करता है उसे सफलता जरूर प्राप्त होती है, इस क्रिया को भी आप किसी भी दिन कर सकते हैं पर एक बात का विशेष ध्यान रखें कि आपको मंत्रों का जाप सुबह 3:00 बजे से लेकर सूर्य उदय होने से पहले तक ही करना है. सूर्य उदय होने के बाद मंत्रों का जाप बिल्कुल ना करें अन्यथा आपकी क्रिया विफल हो जाएगी और आपको कोई लाभ प्राप्त नहीं होगा।

02 लोगों को अलग करने की इस प्रक्रिया को करने के लिए सबसे पहले ब्रह्म मुहूर्त यानी 3:00 बजे उठ जाए और अपने घर के किसी एकांत स्थान पर बैठकर नीचे दिए गए मंत्र का अपनी क्षमता के अनुसार जाप करते रहें, कोशिश करें की कम से कम एक घंटा आप लगातार इन मंत्रों का शांत अवस्था में जाप करते रहे।

॥ ॐ नृसिंहाय विद्हे व्रज नखाय धी माहि तन्नो नृसिंह प्रचोदयात ॥

मंत्रों का जाप करते समय एक बात का विशेष ध्यान रखें कि मंत्र जाप करते समय मन में उन दो लोगों का स्मरण अवश्य करें जिन्हें आप अलग करना चाहते हैं प्रायः इन मंत्रों के जाप से 10 से 12 दिन के भीतर ही परिणाम दिखने शुरू हो जाते हैं और वह दोनों लोग अलग हो जाते हैं, पर फिर भी आपको जब तक शुभ परिणाम प्राप्त नहीं होते तब तक लगातार इन मंत्रों का जाप करते रहे। सच्चे मन से जो भी जातक इन मंत्रों का जाप करता है उसे शुभ परिणाम जल्द से जल्द प्राप्त होते हैं।

दो लोगों में लड़ाई करवाने का प्रचंड मंत्र

यह अत्यंत शक्तिशाली और प्रचंड मंत्र है दो लोगों में लड़ाई झगड़ा करवाने के लिए, इसे करने के लिए आपको कुछ सामग्रियों की आवश्यकता पड़ेगी।

  1. मंत्र जाप के लिए रुद्राक्ष की माला.
  2. एक नींबू.
  3. लाल सिंदूर.
  4. काले तिल.
  5. तांबे की कटोरी.
  6. एक भोजपत्र.

सबसे पहले तांबे की कटोरी में नींबू का रस निकालने और उसमें लाल सिंदूर को मिलाकर उसका एक लेप बना ले, अब अपनी अनामिका उंगली की मदद से एक भोजपत्र के ऊपर उन दोनों का नाम लिखें जिन्हें आप अलग करना चाहते हैं या जिन में आपस में लड़ाई झगड़ा करवाना चाहते हैं. भोजपत्र के ऊपर नाम लिखने के बाद रुद्राक्ष की माला को अपने दाहिने हाथ में लेकर भगवान शिव से प्रार्थना करें कि आप जो क्रिया करने जा रहे हो उसमें अपना आशीर्वाद प्रदान करें और फिर नीचे दिए गए मंत्र का 03 माला जाप करें।

॥ ॐ क्रीं क्रीं ह्रीं कालरात्रि चण्डिकाये फट स्वाहा ॥

मंत्र जाप करने के बाद अपने दाहिने हाथ से काले तिल को लेकर भोजपत्र के ऊपर दोनों नामों के ऊपर थोड़ा-थोड़ा डालें और फिर से 51 बार मंत्र का जाप करते हुए उन भोजपत्र को अच्छे से मोड़ दें और एक काले धन की की मदद से उस भोजपत्र को बांध ले। अब इस भोजपत्र को उसी समय ले जाकर किसी सुनसान जगह पर जला दे। अगर आप सही विधि विधान से इस प्रक्रिया को करेंगे तो जिन दो लोगों को अपने आपस में लगवाने के लिए इस प्रक्रिया को किया था वह दोनों कुछ ही दिनों में आपस में लड़ना शुरू हो जाएंगे और एक दूसरे से दूर हो जाएंगे।

नमक से दो लोगों को अलग करने का मंत्र

नमक का मंत्र

जिस प्रकार नींबू का उपयोग तांत्रिक क्रियाओं में काफी अधिक किया जाता है ठीक उसी प्रकार नमक का भी उपयोग तांत्रिक क्रियाओं में अहम माना गया है। इस क्रिया को सफलतापूर्वक करने के लिए आपको एक सफेद प्याज के रस की भी आवश्यकता पड़ेगी. सबसे पहले सफेद प्याज के रस को एक कटोरी में निकाल लें और अपनी अनामिका उंगली से एक कोरे कागज के ऊपर उन दोनों का नाम लिखें जिन्हें आप अलग करना चाहते हैं या जिनके बीच में लड़ाई करवाना चाहते हैं।

नाम लिखने के बाद उन दोनों नामों के ऊपर अपने दाहिने हाथ से एक एक मुट्ठी नमक रख दें एक बात का विशेष ध्यान रखें कि इस क्रिया के लिए आपको केवल समुद्री नमक का उपयोग करना है। उसके बाद उन दोनों नमक के ढेर के ऊपर एक एक कपूर रखकर जला दें और नीचे दिए गए मंत्र का 51 बार जाप करें मंत्र जाप करते समय मन में उन दोनों का स्मरण करें जिन्हें आप आपस में लड़वाना चाहते हैं।

॥ ॐ ह्रीं महायक्षिणी परातरायै नमः ॥

निष्कर्ष

नींबू से दो लोगों को अलग करना की पूरी विधि और कुछ महत्वपूर्ण और शक्तिशाली मंत्रो का उल्लेख हमने यहां किया है जिसका उपयोग आप अपनी परिस्थिति के अनुसार कर सकते हैं और दो लोगों को अलग करने में सक्षम हो सकते हैं। अंत में मैं फिर से आप सभी से विनम्र निवेदन करूंगा कि बिना वजह या अपने स्वार्थ के लिए किसी भी दो लोग को आपस में लड़ाना या अलग करना सामाजिक और धार्मिक दृष्टि से पाप है जिसका फल हमें भविष्य में भोगना ही पड़ता है और यदि आप इन मंत्रों का उपयोग अपने स्वार्थ के लिए करेंगे तो इसके दुष्परिणाम आपको जीवन भर भोगने पड़ सकते हैं, इसलिए इन मंत्रो का उपयोग करने से पहले अच्छे से सोच विचार करके ही आगे बढ़े अन्यथा इन मंत्रों का उपयोग भूलकर भी ना करें।

जय महाकाल.

Leave a Comment

Your email address will not be published.