दुश्मन का नाश करने का उपाय, 06 सरल तांत्रिक उपाय जो करेंगे हर दुश्मन का नाश

अगर दुश्मनों से है परेशान तो अपनायें इन तांत्रिक उपाय को

दुश्मन का नाश करने का उपाय

दुश्मन का नाश करने का उपाय के बारे में आज हम आप सभी को बताने जा रहे हैं जिसका उपयोग करके आप अपने दुश्मन का सदैव के लिए नाश करने में सक्षम हो पाएंगे और इस तांत्रिक उपाय को करने के बाद आपका दुश्मन आपको जीवन में फिर दोबारा कभी परेशान नहीं करेगा और आप एक स्वस्थ और सुखी जीवन जी पाएंगे।

इस कलयुग में दुश्मन या शत्रु की समस्या से हर कोई पीड़ित है, इस संसार में ऐसा कोई भी इंसान नहीं जिसका कोई ना कोई शत्रु ना हो। हमें कई बार ऐसा महसूस होता है कि हमने कभी किसी का बुरा नहीं किया तो हमारा कोई भी शत्रु नहीं होगा पर यह सत्य नहीं है। कई बार हमारी तरक्की या फिर हमारी खुशहाल जिंदगी को देखकर ईर्ष्या से ही हमारे आसपास के लोग हमारे शत्रु बन जाते हैं और हमारे जीवन में संकट उत्पन्न करने का प्रयास करते हैं, जिस वजह से हमें काफी मानसिक पीड़ा होती है और कई प्रयास करने के बाद भी हमें अपने दुश्मन या शत्रुओं से छुटकारा नहीं प्राप्त होता है।

अगर आप भी ऐसी परिस्थिति में है जहां आपका दुश्मन आपको काफी अधिक परेशान कर रहा है और आपको कोई और रास्ता नजर नहीं मिल रहा हो तो आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है, आज जो 06 तांत्रिक उपाय हम आपको बताने जा रहे हैं उसका सिर्फ एक बार प्रयोग करने से ही आपके दुश्मन आपको जीवन में कभी दुबारा परेशान नहीं करेंगे। यह काफी सरल तांत्रिक उपाय हैं और आम आदमी भी इसे आसानी से अपने घर में कर सकता है।

तो आइए अब और समय ना नष्ट करते हुए जान लेते हैं दुश्मन का नाश करने का उपाय का प्रयोग आप किस प्रकार से कर सकते हैं।

दुश्मन का नाश करने का उपाय, सबसे सफल तांत्रिक उपाय

दुश्मन का नाश करने का उपाय

दुश्मन का नाश करने का यह उपाय काफी प्राचीन उपाय है और आज भी भारत के कई ग्रामीण क्षेत्रों में इस उपाय का प्रयोग किया जाता है अपने दुश्मन का नाश करने के लिए। यह काफी सरल उपाय है और सिर्फ एक ही बार में अपना असर जरूर दिखाता है। इस उपाय को करने के लिए आपको कुछ सामग्रियों की आवश्यकता पड़ेगी जो इस प्रकार है।

  1. एक काली मोमबत्ती.
  2. एक सूखा हुआ पीपल का पत्ता.
  3. पूजा में उपयोग किए जाने वाला लाल सिन्दूर या कुमकुम.
  4. एक काला चौकोर कपड़ा.
  5. एक ताजा पीला नींबू.

दुश्मन का नाश करने के इस उपाय को आप किसी भी दिन कर सकते हैं पर इस उपाय को अगर आप शुक्रवार की रात 12:00 बजे के बाद करते हैं तो इसका असर काफी तीव्र होता है। इस उपाय को करने के लिए सबसे पहले किसी एकांत स्थान पर जमीन पर बैठ जाए और अपने सामने एक छोटी सी कटोरी में थोड़ा सा लाल सिन्दूर या कुमकुम डालें और उसमें थोड़ा सा पानी मिलाकर उसका एक लेप बना ले अब उस काली मोमबत्ती के ऊपर अपनी अनामिका उंगली से अपने दुश्मन का पूरा नाम लिखें और उसके बाद उस पीपल के सूखे हुए पत्ते के ऊपर भी अपनी अनामिका उंगली से अपने दुश्मन का नाम लिखें, अब अपने सामने उस मोमबत्ती को रखकर जलाएं और मोमबत्ती के सामने उस पीपल के पत्ते को रखें और नीचे दिए गए मंदिर का 251 बार जाप करें।

॥ ॐ नमो भगवते पंचवदनाय पश्चिमुखाय गरुडानना (दुश्मन का नाम) विषहराय स्वाहा ॥

एक बात का विशेष ध्यान रखें कि मंत्र जाप करते समय अपनी आंखें बंद रखें और मन में अपने दुश्मन का स्मरण करते रहें, मंत्र जाप समाप्त होने के बाद उस पीपल के पत्ते को उस मोमबत्ती की लौ से जलाकर उसकी राख बना लें और जब तक मोमबत्ती जलकर समाप्त ना हो जाए तब तक वहीं पर बैठे रहे. जब मोमबत्ती जलकर समाप्त हो जाए तो मोमबत्ती की बची हुई मोम और पीपल के पत्ते की राख को उस काले कपड़े में रखकर उसकी पोटली बनाएं और उसे किसी एकांत स्थान पर ले जाकर एक गड्ढा खोदकर गाड़ दे। पोटली को गाड़ने के बाद उस गड्ढे के ऊपर नींबू को रखकर उसे बीचो-बीच काट दे और बिना पीछे मुड़े घर वापस आ जाए।

यह अत्यंत ही शक्तिशाली तांत्रिक क्रिया है जिसे जो भी व्यक्ति सच्चे मन से करता है उसके समस्त दुश्मनों का नाश निश्चित होता है।

दुश्मन का नाश करने के लिए सबसे शक्तिशाली तांत्रिक विधि

सबसे शक्तिशाली तांत्रिक विधि

दुश्मन का नाश करने के लिए यह सबसे शक्तिशाली तांत्रिक विधि है जिसका उपयोग अगर आप सही विधि और विधान से करते हैं तो यकीन मानिए आपका दुश्मन सदैव के लिए आपसे दूर रहेगा और फिर कभी भी जीवन में आपको दोबारा परेशान नहीं करेगा. इस उपाय को केवल शुक्रवार के दिन ही करना है और वह भी सूर्य अस्त होने के बाद, इसे करने के लिए आपको कुछ सामग्रियों की आवश्यकता पड़ेगी।

  1. एक नारियल.
  2. आप के दाएं पैर की धूल.
  3. एक काजल की डिब्बी.
  4. थोड़ा सा सरसों का तेल.

दुश्मन का नाश करने के इस उपाय को करने के लिए सबसे पहले शुक्रवार की शाम को स्नान करके शुद्ध हो जाए और सूर्य अस्त होने के बाद किसी एकांत स्थान पर साफ-सुथरे जमीन पर बैठ जाएं, पर एक बात का विशेष ध्यान रखें कि इस क्रिया को अपने घर के आंगन में ना करें और घर से बाहर ही करें। साफ-सुथरी जमीन में बैठने के बाद एक कटोरी में थोड़ा सा सरसों तेल लें और उसमें अपनी पैर की धूल मिलाएं और उसके ऊपर थोड़ी मात्रा में काजल भी मिलाएं। अब नारियल के ऊपर अपनी अनामिका उंगली की मदद से उस काजल के लेप से से अपने शत्रु का पूरा नाम उस नारियल के ऊपर लिखे और उस नारियल को अपने सामने रखें और नीचे दिए गए मंत्र का 501 बार जाप करें।

॥ ॐ ह्रीं क्लीं (दुश्मन का नाम) दुष्टाय मुखाए संभाए जीवहाए अकाल नाशाय ॐ फट स्वाहा ॥

मंत्र जाप समाप्त होने के बाद अपने दोनों हाथों में नारियल को लेकर किसी चौराहे पर जाकर इस नारियल को बीच चौराहे पर फोड़ दें और फिर से इसी मंत्र का 11 बार जप करें और बिना पीछे मुड़े या बिना किसी से बात किए हुए अपने घर वापस आ जाए। आप यकीन नहीं करेंगे कि दुश्मन का नाश करने के लिए यह सबसे शक्तिशाली उपाय है जो आज तक कभी असफल नहीं हुआ है और जो भी जातक इस उपाय को सच्चे मन से करता है उसे इसका लाभ अवश्य प्राप्त होता है।

दुश्मन से छुटकारा पाने का सबसे सरल उपाय

दुश्मन से छुटकारा पाने का सबसे सरल तरीका

अपने दुश्मनों से छुटकारा पाने के लिए यह सबसे सरल तांत्रिक उपाय है और इसे करने में ज्यादा समय भी नहीं लगता और आम इंसान भी इस उपाय को आसानी से कर के अपने दुश्मनों से छुटकारा पा सकता है या अपने दुश्मनों का नाश कर सकता है।

इस उपाय को आप किसी भी दिन कर सकते हैं इस उपाय को करने के लिए दिन और समय की कोई सीमा नहीं है, इस उपाय को करने के लिए सबसे पहले आपको एक भोजपत्र की आवश्यकता पड़ेगी। सबसे पहले भोजपत्र के ऊपर लाल कलम और लाल चंदन के लेप की मदद से अपने शत्रु का नाम तीन बार लिखें और उसके बाद इस भोजपत्र को चार बार मोड़ कर शहद से भरी हुई कांच की डिब्बी के अंदर रखें।

एक बात का विशेष ध्यान रखें की भोजपत्र को कांच की डिब्बी में ही रखें लोहे के पात्र में ना रखें अन्यथा आप को इस विधि का लाभ नहीं मिल पाएगा। भोजपत्र को कांच के डिब्बे के अंदर शहद मैं तब तक भींगो के रखे जब तक आपका दुश्मन आपको परेशान करना बंद ना कर दे। जब आपका दुश्मन आपको परेशान करना बंद कर दें या आपके दुश्मन का नाश हो जाए तब इस कांच की डब्बी को किसी बहते हुए स्वच्छ पानी में प्रवाह कर दें।

एक बात का विशेष ध्यान रखें कि इस उपाय को सफल होने में कम से कम 20 से 25 दिन का समय लगता है इसलिए संयम बनाए रखें और अपने विधि पर पूरा भरोसा रखें आपको अवश्य लाभ प्राप्त होगा।

इस सरल उपाय से करें अपने दुश्मन का नाश

अपने दुश्मन का नाश करने का यह उपाय भी काफी सरल है पर यह तांत्रिक उपाय नहीं यह एक वैदिक उपाय है पर काफी शक्तिशाली है और सदैव अपना असर दिखाता है।

इस उपाय को करने के लिए सबसे पहले शनिवार के दिन शाम को स्नान करके स्वच्छ हो जाए और अपने पास के हनुमान मंदिर मैं तीन पान के पत्ते साथ में लेकर जाएं और सबसे पहले हनुमान जी के सामने बैठकर उनके चरणों की सिंदूर को लेकर पान के पत्ते के ऊपर अपने दुश्मन का नाम लिखें ध्यान रहे कि तीनों पान के पत्तों के ऊपर अपने दुश्मन का नाम लिखें।

पान के पत्तों के ऊपर अपने दुश्मन का नाम लिखने के बाद दोनों हाथ जोड़कर हनुमान जी से सच्चे मन से प्रार्थना करें कि इस उपाय को सफल करने के लिए अपना आशीर्वाद प्रदान करें और उसके बाद एक पान के पत्ते को हनुमान जी के चरणों पर रख दें और बाकी दोनों पान के पत्तों को ले जाकर किसी पीपल के पेड़ के नीचे रखकर वापस अपने घर आ जाए।

दुश्मन का नाश करने का यह सबसे प्राचीन उपाय है जिसे सच्चे मन से किया जाए तो 100% अपना परिणाम जरूर देता है।

गोमती चक्र से करें अपने दुश्मन का नाश

गोमती चक्र से करें अपने दुश्मन

जैसा कि हम सब जानते हैं कि हमारे हिंदू धर्म में गोमती चक्र का काफी अधिक महत्व है और काफी अधिक हिंदू रीति-रिवाजों और अनुष्ठानों में गोमती चक्र का उपयोग किया जाता है, पर क्या आप जानते हैं कि गोमती चक्र की मदद से आप अपने दुश्मन का भी नाश कर सकते है।

इस सरल और शक्तिशाली उपाय तो आप केवल बुधवार के दिन ही कर सकते हैं और इसे करने के लिए सबसे पहले बाजार से 5 गोमती चक्र लेकर आएं और एक बात का ध्यान रखें कि कोई भी गोमती चक्र टूटा या खंडित ना हो, उसके बाद इन गोमती चक्र को अच्छे से धो कर शुद्ध कर लें और उसके बाद शाम को सूर्य अस्त होने के बाद इन गोमती चक्र को गणेश जी के मंदिर लेकर जाएं और मंदिर के अंदर खड़े होकर इन गोमती चक्र को अपने सर से घड़ी की दिशा में 5 बार घुमाकर इन्हें गणेश जी के चरणों में अर्पित कर दे।

यह काफी शक्तिशाली टोटका है अपने दुश्मनों से छुटकारा पाने के लिए और जो भी व्यक्ति सच्चे मन से गणेश भगवान की आराधना करते हुए इस उपाय को करता है उसे अपने दुश्मनों से जल्द से जल्द छुटकारा प्राप्त होता है।

निष्कर्ष

तो यह थे दुश्मन का नाश करने का उपाय जो काफी शक्तिशाली हैं और सच्चे मन से किए गए इन उपायों से अवश्य लाभ प्राप्त होता है आज के इस अध्याय को समाप्त करने से पहले मैं आप सभी से निवेदन करूंगा कि हमारे द्वारा बताए गए यह सभी उपाय काफी अधिक शक्तिशाली हैं और काफी तीव्र असर दिखाते हैं इसलिए मेरा आप सब से निवेदन है कि इन उपायों का उपयोग तभी करें जब आपका कोई दुश्मन आपको काफी अधिक परेशान कर रहा हो. अपने स्वार्थ की पूर्ति के लिए इन उपायों का उपयोग किसी बेकसूर इंसान के ऊपर ना करें अन्यथा इनके तीव्र प्रभाव आप पर भी पढ़ सकते हैं।.

जय महाकाल

यह भी अवश्य पढ़े :-

रोग दूर करने के हनुमान जी के टोटके, जो करेंगे हर रोगों का नाश.

रुके काम बनाने के टोटके, 06 शक्तिशाली टोटके जिनसे बनेंगे सारे रुके और बिगड़े काम

गुप्त टोटके जो करे हर समाया का अंत, 06 शक्तिशाली टोटके.

घर में बरकत के उपाय, इन उपायों से घर में हमेशा रहेगी बरकत, सुख, शांति और समृद्धि

एक रोटी से शत्रु का नाश करने का तांत्रिक उपाय

सोया हुआ भाग्य जगाने के उपाय जो कभी असफल नहीं होते

मनोकामना पूर्ति के हनुमान जी के उपाय, हर मनोकामन को पूरी करे ये 06 सरल उपाय

अच्छे दिन लाने के उपाय, भाग्योदय के लिए सबसे सरल और अचूक उपाय.

पति की किस्मत चमकाने के उपाय, इन उपायों से बदल जाएगी पति की किस्मत

काम में रुकावट दूर करने के 05 अचूक उपाय, काम में रुकावट के उपाय.

Leave a Comment

Your email address will not be published.