कपूर से दुश्मन का नाश करने के 04 सरल तांत्रिक मंत्र.

अपने दुश्मन से पाएं हमेशा के लिए छुटकारा

कपूर से दुश्मन का नाश

आज के इस भाग दौड़ भरी जिंदगी में हर कोई किसी न किसी दुश्मन से परेशान है और उससे हर प्रकार से छुटकारा पाना चाहता है, पर कई बार हमारे दुश्मन हमें इतना ज्यादा परेशान कर देते हैं कि हम मानसिक और शारीरिक रूप से त्रस्त हो जाते हैं. इसलिए आज के हमारे इस अध्याय में हम आपको कपूर से दुश्मन का नाश करने के कुछ ऐसे अचूक तांत्रिक मंत्र और उपाय बताएंगे जिसका आप आसानी से अपने घर में उपयोग करके अपने दुश्मन से जिंदगी भर के लिए छुटकारा पा सकते हैं और अपने दुश्मन को सबक सिखा सकते हैं।

आज के इस अध्याय में हम आपको जो भी उपाय और मंत्र बताने जा रहे हैं यह काफी सरल है और अगर आप सच्चे मन से करेंगे तो यकीन मानिए आपका दुश्मन आप से डरने लगेगा और आपको जीवन में कभी भी परेशान नहीं करेगा। पर आज के हमारे इस अध्याय कपूर से दुश्मन का नाश को शुरू करने से पहले मैं आप सभी से विनती करूंगा कि आज जो भी मंत्र और टोटके हम आपको बताने वाले हैं यह सभी काफी असरदार और शक्तिशाली हैं और इनका उपयोग तभी करें जब वास्तव में आप किसी से परेशान हैं और उससे छुटकारा पाना चाहते हैं, क्योंकि इन मंत्रों और टोटकों के असर से आपके दुश्मन को काफी अधिक तकलीफ पहुंचेगी जिससे वह आपसे भयभीत होकर आपको परेशान करना बंद कर देगा।

तो चलिए और समय ना व्यर्थ करते हुए आज के इस अध्याय को शुरू करते हैं और आप को जानकारी प्रदान करते हैं कि किस प्रकार आप इन तांत्रिक मंत्रों और उपायों का उपयोग करके अपने दुश्मनों से हमेशा के लिए छुटकारा पा सकते हैं।

कपूर से दुश्मन का नाश करने का सबसे प्रचंड मंत्र और उपाय

कपूर से दुश्मन का नाश करने का सबसे प्रचंड मंत्र और उपाय

साधारण से दिखने वाले कपूर से अपने दुश्मन का नाश करने का यह सबसे प्रचंड और प्राचीन मंत्र है जिसके मात्र एक ही उपयोग से आपका दुश्मन सदैव के लिए आपसे दूर चला जाएगा और फिर कभी भी आपको परेशान नहीं करेगा और इसे आप बड़े ही आसानी से अपने घर में कर सकते हैं। इस उपाय को करने के लिए आपको कुछ सामग्रियों की आवश्यकता पड़ेगी जो इस प्रकार है।

  1. 11 कपूर के दाने।
  2. 03 खड़ी लाल मिर्च
  3. 01 ताजा पीला नींबू।

इस उपाय को आप किसी भी दिन कर सकते हैं पर अगर इसे आप शनिवार की रात्रि करें तो ज्यादा उत्तम होगा इसे करने के लिए सबसे पहले किसी सुनसान जगह पर 11 कपूर के दाने जमीन पर रख दें और अपने दाहिने हाथ पर 3 खड़ी लाल मिर्च रखकर मुट्ठी बांध ले और नीचे दिए गए मंत्र का जाप करते हुए इन लाल मिर्चा को अपने सर से घड़ी की उल्टी दिशा की ओर 21 बार घुमाएं और अपने हाथों को 21 बार सर से घुमाते हुए 21 बार नीचे दिए गए मंत्र का लगातार जाप करें।

॥ॐ क्रीम फट मम शत्रु (शत्रु का नाम) शमनाय स्वाहा॥

खड़ी मिर्चा को अपने सर के ऊपर से 21 बार घुमाने के बाद इन तीनों मिर्जा को कपूर की मदद से जला दें और जब मिर्च और कपूर पूरी तरह से जलकर राख हो जाए तब उसके ऊपर एक नींबू निचोड़ दें और नींबू निचोड़ थे वह फिर से ऊपर दिए गए मंत्र का 11 बार जाप करें मंत्र जाप समाप्त होने के बाद बिना पीछे मुड़े अपने घर वापस आ जाएं और हो सके तो स्नान कर ले इस उपाय को संपूर्ण होने में कम से कम 8 से 10 दिन का समय लगता है और 8 से 10 दिन के बाद आप देखेंगे कि आपको शत्रु आपको खुद ही परेशान करना बंद कर देगा और आप से डरने लगेगा।

इस उपाय को करते समय एक बात का विशेष ध्यान रखें कि इस उपाय को महीने में सिर्फ एक ही बार करें उससे ज्यादा इस उपाय को ना करें अन्यथा इसके नकारात्मक परिणाम हो सकते हैं।

शमशान की राख से दुश्मन का नाश करने का सबसे सरल और तीव्र मंत्र।

शमशान की राख से दुश्मन का नाश करने का सबसे सरल और तीव्र मंत्र

जिस तरह साधारण से दिखने वाले कपूर से दुश्मन से छुटकारा पाया जा सकता है कि उसी प्रकार शमशान की राख से भी दुश्मन का नाश किया जा सकता है यह उपाय भी काफी तीव्र है जिससे आपका दुश्मन हमेशा के लिए आपको परेशान करना बंद कर देगा।

इस उपाय को करने के लिए सबसे पहले अमावस्या या शनिवार की रात्रि शमशान से थोड़ी मात्रा में चिता की राख लेकर आएं और उसके बाद किसी एकांत स्थान पर इस राख को जमीन पर रख दें और एक हरे पीपल के पत्ते के ऊपर अपनी अनामिका उंगली और सिंदूर के घोल की मदद से अपने शत्रु का नाम लिखें, ध्यान रहे कि अपने शत्रु का पूरा नाम लिखें और उसके बाद नीचे दिया गया मंत्र लिखें।

॥ॐ शत्रु संहारिणी मंम शत्रु नाशाय फट स्वाहा॥

पीपल के पत्ते के ऊपर अपने शत्रु का नाम और मंत्र सिंदूर की मदद से लिखने के बाद इस पीपल के पत्ते को अपने दोनों हाथों में रखें और आंखें बंद करके ऊपर दिए गए मंत्र का 108 बार जाप करें. मंत्र जाप समाप्त होने के बाद इस पीपल के पत्ते को उस शमशान की राख के ऊपर रखें और पीपल के पत्ते के ऊपर कुछ कपूर के टुकड़े रखकर इस पत्ते को जला दें. जब पीपल का पत्ता जलकर पूरी तरह राख हो जाए तब उस राख के ऊपर 3 बार थूकें और बिना पीछे मुड़े अपने घर वापस आ जाएं।

दुश्मन से छुटकारा पाने के लिए इस तांत्रिक क्रिया को करने की कुछ ही दिनों बाद आप देखेंगे कि आपका शत्रु आपसे दूर भागने लगेगा और दोबारा कभी आपको परेशान नहीं करेगा।

दुश्मन का नाश करने वाला मंत्र

दुश्मन से मुक्ति करने वाला मंत्र

अपने दुश्मन का नाश करने के लिए या उससे छुटकारा पाने के लिए हमने जो दो विधि ऊपर बताई है अगर किसी कारण वर्ष आप उसे करने में असमर्थ हैं तो इस सरल से उपाय को करके भी आप अपने दुश्मन का सर्वनाश कर सकते हैं और हमेशा के लिए उससे मुक्ति पा सकते हैं. यह सबसे प्राचीन और सरल उपाय हैं किसी भी दुश्मन से मुक्ति पाने का।

इस उपाय को करना काफी सरल है और इसे करने के लिए जब आप रात को सोने के लिए जाएं तो सोने से पहले अपने पलंग की दक्षिण की ओर मुख करके बैठ जाएं और नीचे दिए गए मंत्र का आंख बंद करके 51 बार जाप करें।

॥ॐ ऐं ह्रीं क्लीं चामुंडायै (शत्रु का नाम) क्लीं स्वाहा॥

जो भी व्यक्ति इन मंत्रों का जाप लगातार 21 दिनों तक रात को सोने से पहले करता है उसे अपने दुश्मन से अवश्य छुटकारा मिलता है और इस मंत्र की वजह से आपके शत्रु को हानि भी पहुंचती है और उसका स्वास्थ्य भी बिगड़ने लगता है. यह काफी प्राचीन मंत्र है जिसे आज भी बड़े बुजुर्ग इस्तेमाल करते हैं और अपने दुश्मनों से छुटकारा पाते हैं।

अगर दुश्मन से है परेशान तो अपनाएं इस टोटके को

किसी भी दुश्मन से छुटकारा पाने के लिए या उसका नाश करने के लिए यह एक वैदिक और प्राचीन टोटका है जिसका उपयोग आज भी किया जाता है. इस टोटके के 2 फायदे हैं इसे करने से आपका दुश्मन का नाश भी होगा और साथ ही अगर आपको किसी की बुरी नजर लगी है या आपके ऊपर किसी भी प्रकार का टोना टोटका हुआ है तो वह भी इस टोटके से समाप्त हो जाएगी और आपके आसपास सकारात्मक ऊर्जा का संचार भी होने लगेगा।

इस टोटके को आप किसी भी दिन कर सकते हैं और इसे करने के लिए सबसे पहले आपको लाल मिर्च के 21 बीज लेने हैं और साथ ही काली मिर्च के 11 दाने. अब इन दोनों को अपने दाहिने हाथ में रखकर पूरब की ओर मुख कर कर खड़े हो जाएं और अपने मन में अपने शत्रु का शाम स्मरण करते हुए काली मिर्च और लाल मिर्च के बीजों को अपने सर से पैर तक घड़ी की दिशा में 51 बार घुमाये और इसे अपने घर के दक्षिण की ओर ले जाकर जला दें. इन्हें जलाने के बाद इनकी राख के ऊपर तीन बार ठोकर या लात मारे और अपने घर वापस आ जाएं. यह बहुत ही असरदार टोटका है अपने दुश्मन का नाश करने का।

निष्कर्ष
निष्कर्ष

आज हमने आपको यहां पर कपूर से दुश्मन का नाश करने के कुछ घरेलू तांत्रिक उपाय बताए हैं और साथ ही कुछ ऐसे मंत्र भी बताए हैं जिनका उपयोग करके आप अपने दुश्मनों का नाश करने में सक्षम हो सकते हैं और उनसे हमेशा के लिए मुक्ति पाकर एक स्वस्थ जीवन जीने में सक्षम हो सकते हैं, पर जैसा कि हमने पहले भी निवेदन किया है यह उपाय और मंत्र सुनने में काफी सरल और सहज लगते हैं पर इनका असर काफी तीव्र होता है. इसलिए जब तक वास्तव में कोई आपका दुश्मन आपको परेशान ना कर रहा हो तब तक इन उपाय और मंत्रों का उपयोग भूलकर भी ना करें अन्यथा इन के नकारात्मक प्रभाव के जिम्मेदार आपको खुद हो सकते हैं और अगर वास्तव में कोई दुश्मन आपको परेशान कर रहा है और तमाम कोशिशों के बाद भी आप उसे छुटकारा नहीं पा सके हैं तो आप निसंकोच और बिना किसी डर के सच्चे मन के साथ इन उपायों का उपयोग करके अपने जीवन से उस दुश्मन का छुटकारा कर सकते हैं।

अगर हमारे द्वारा बताए गए किसी भी विधि में आपको किसी भी प्रकार का कोई सवाल है या कोई बात आपको समझ में ना आई हो तो निसंकोच होकर हमसे संपर्क कर सकते हैं और अपनी सारी परेशानियां हमारे साथ साझा कर सकते हैं, आपके परेशानियों का जो भी उचित उपाय हमारे पास उपलब्ध होगा हम आपको निशुल्क उपलब्ध कराएंगे और ईश्वर से कामना करेंगे कि ईश्वर आपको एक सुख शांति और समृद्धि भरा जीवन प्रदान करें।

जय महाकाल

दुश्मन का नाश करने का उपाय, 06 सरल तांत्रिक उपाय जो करेंगे हर दुश्मन का नाश

दुश्मन को भगाने का टोटका. अगर शत्रु से है परेशान तो करे इन टोटके को.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *