घबराहट दूर करने का मंत्र | घबराहट और डर को दूर करने के लिए 06 शक्तिशाली मंत्र

घबराहट दूर करने का मंत्र
घबराहट दूर करने का मंत्र

आज के हमारे इस अध्याय में हम आप सभी के लिए घबराहट दूर करने का मंत्र लेकर आए हैं जिनका उपयोग करके आप अपने मन की घबराहट को दूर कर सकते हैं और अपने मन को शांत और निर्मल कर सकते हैं।

घबराहट और डर एक ऐसी समस्या है जो हर इंसान के जीवन में आती है पर सबसे पहले हमें इस बात को समझना पड़ेगा कि घबराहट और डर के भी कई पहलू होते हैं अगर आपने कोई बुरे कर्म किए हैं तो आपका डरना स्वाभाविक है और आपको इस बात का भी आभास होना चाहिए कि अगर आपने बुरे कर्म किए हैं जिसकी वजह से आपके मन में घबराहट या डर है तो उस घबराहट को तो आप मंत्रों की ऊर्जा से दूर कर सकते हैं पर आपने जो बुरे कर्म किए हैं उसके फल आपको जरूर भोगने होंगे।

पर कुछ घबराहट और डर की स्थिति ऐसी होती है जहां मनुष्य की कोई गलती नहीं होती पर फिर भी उसके मन में घबराहट या डर की स्थिति पैदा होती है, उदाहरण के लिए कई लोगों को अंधेरे या एकांत जगह में होने से मन में घबराहट या डर की स्थिति पैदा होती है तो दूसरी तरफ छात्रों को परीक्षा देने से पहले मन में घबराहट होती है।

यह भी पढ़े :- बदकिस्मती दूर करने के उपाय. भाग्योदय के लिए अचूक टोटके

मन की घबराहट को कैसे दूर करे

घबराहट दूर करने का मंत्र आज जो हम आप सब लोग लोग के सामने यहां प्रस्तुत कर रहे हैं वह काफी शक्तिशाली है और अगर आप ऐसी स्थिति में हैं जहां आपके मन में काफी ज्यादा घबराहट है या आपका मन एकाग्र नहीं है तो हमारे द्वारा नीचे बताए गए इन मंत्रों का जाप करके आप अपने मन के घबराहट को दूर कर सकते हैं और अपने मन को एकाग्र और शांत कर सकते हैं। मंत्रों का उपयोग करने से पहले मैं आप सब से विनती करूंगा कि जब भी इन मंत्र का प्रयोग करें अपने मन को शांत रखें और मन एकाग्र करके इन मंत्रों का जाप करें इन मंत्रों के जाप से आपके मन में कोई घबराहट नहीं रहेगी और आपका मन भी शांत रहेगा।

यह भी पढ़े :- दुश्मन को भगाने का टोटका. अगर शत्रु से है परेशान तो करे इन टोटके को

मां भगवती का घबराहट दूर करने का मंत्र

मां भगवती का घबराहट दूर करने का मंत्र

आप सब भी हमारी इस बात से सहमत होंगे कि बचपन में जब भी हमें किसी बात से डर या घबराहट होती थी हम दौड़ कर अपनी मां के पास चले जाते थे और उनकी आंचल में छुप जाते थे तब जाकर हमारे मन की घबराहट दूर होती थी, ठीक उसी प्रकार मां भगवती जिन्हें श्रीष्टि का पालनहार भी कहा जाता है अपने भक्तों के हर डर या घबराहट दूर करने में सक्षम है अगर आपको किसी परिस्थिति से घबराहट हो रही है या आपके मन में किसी बात को लेकर डर हैं तो नीचे दिए गए इस मां भगवती मंत्र का आंख बंद करके शांत मुद्रा में 51 बार जाप करें.

॥ ॐ नमो नारायणी ॥

आप मंत्रों का जाप बोल कर भी कर सकते हैं अन्यथा आप इन मंत्रों का जाप मन में भी कर सकते हैं, पर एक बात का ध्यान रखें कि जब भी मंत्रों का जाप करें आपका मन एकाग्र हो।

घबराहट दूर करने का हनुमान मंत्र

घबराहट दूर करने का हनुमान मंत्र
घबराहट दूर करने का हनुमान मंत्र

जो भी इंसान हिंदू धर्म में अटूट आस्था रखता है वह इस बात को जानता होगा कि प्रभु श्री हनुमान का नाम सुनते ही सारी नकारात्मक शक्तियां, घबराहट, डर, भूत, प्रेत, पिशाच का नाश हो जाता है। इस कलयुग में प्रभु श्री हनुमान ही एक ऐसे देवता हैं जो आज भी इस पृथ्वी पर वास कर रहे हैं, हमारे पौराणिक शास्त्रों में कई ऐसे तथ्य मौजूद हैं जो इस बात की पुष्टि करते हैं कि श्री हनुमान आज भी इस कलयुग में इस पृथ्वी में वास कर रहे हैं और संकट के समय जो भी भक्त श्री हनुमान को पुकारता है श्री हनुमान स्वयं उसके सारे दुख और परेशानियां हर लेते हैं।

अगर किसी बात या परिस्थिति को लेकर आपके मन में किसी प्रकार की कोई भी घबराहट है जिसकी वजह से आपका मन बेचैन रहता है और आपका काम में मन नहीं लगता तो हमारी सलाह है कि एक बार इस हनुमान मंत्र का उपयोग जरूर करें आप स्वयं इस मंत्र की शक्ति का अनुभव करेंगे, मंत्र बड़ा सरल है और इसे उपयोग करना भी बड़ा आसान है जब कभी भी आपको मन में घबराहट लगे या किसी कार्य को शुरू करने से पहले डर लगे तो किसी एकांत स्थान पर स्वच्छ जमीन पर बैठ जाएं और ॥ॐ हनुमंत नमः॥ मंत्र का 108 बार जाप करें, मंत्र जाप करते समय अपनी आंखें बंद रखें और मन में प्रभु श्री हनुमान का स्मरण करें. मंत्र खत्म होते ही आप स्वयं अनुभव करेंगे कि आपकी मन की घबराहट कम होने लगी है और आपके अंदर एक सकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न हुई है।

डर और घबराहट दूर करने का शिव मंत्र

डर और घबराहट दूर करने का शिव मंत्र
डर और घबराहट दूर करने का शिव मंत्र

देवों के देव महादेव की शक्ति को कौन नहीं जानता जो सारे ब्रह्मांड के पालनहार और रक्षक हैं उनके सामने कोई भी नकारात्मक शक्ति टिक नहीं सकती. इस कलयुग में महादेव एक ऐसे देवता हैं जिन्हें आप अगर अपने सरल भाव से भी याद करते हैं तो वह आप की पुकार जरूर सुनते हैं। सारे देवी देवताओं में सिर्फ महादेव ही एक ऐसे देवता हैं जिन्हें अपने भक्तों से किसी भी प्रकार की पूजा-अर्चना का कोई लोभ नहीं है उन्हें सिर्फ अपने भक्तों की भक्ति से ही लगाव रहता है और जो भी भक्त सच्चे मन से भगवान शिव को याद करता है वह उनकी पुकार जरूर सुनते हैं.

अपने मन की घबराहट को दूर करने के लिए इस ब्रह्मांड का सबसे शक्तिशाली मंत्र ॥ ॐ नमः शिवाय ॥ का जाप अवश्य करें. इस मंत्र का जाप आप किसी भी परिस्थिति में कर सकते हैं। इस मंत्र को आप अपने सामर्थ्य अनुसार जाप कर सकते हैं पर फिर भी हमारी सलाह आपको यही होगी कि इस मंत्र का कम से कम 101 बार जाप जरूर करें। ॐ नमः शिवाय एक ऐसा शक्तिशाली मंत्र है जो ना केवल आपके मन की घबराहट और डर को दूर करता है बल्कि आपके ह्रदय और मस्तिष्क में मनोबल की ऊर्जा को भी उत्पन्न करता है।

गायत्री मंत्र से दूर करें मन की घबराहट

गायत्री मंत्र की शक्ति का आभास आप इसी बात से लगा सकते हैं कि हिंदू धर्म में जो चार प्रमुख वेद हैं उन चारों वेदों में गायत्री मंत्र का जिक्र है जो इस बात को दर्शाता है कि गायत्री मंत्र की शक्ति अपरंपार है. आज के इस आधुनिक युग में भी गायत्री मंत्र का उपयोग कई जगह किया जाता है और वैज्ञानिक तथ्य भी मौजूद हैं जो इस बात पर इशारा करते हैं कि गायत्री मंत्र के उच्चारण से जो ऊर्जा उत्पन्न होती है वह हमारे आसपास की नकारात्मक ऊर्जा को नष्ट कर देती है.

ॐ भूर् भुवः स्वः
तत् सवितुर्वरेण्यं
भर्गो देवस्य धीमहि
धियो यो नः प्रचोदयात्॥

मन की घबराहट और डर भी एक नकारात्मक ऊर्जा ही है जो हमारे अंदर से उत्पन्न होती है और अगर ऐसी स्थिति में हम अपने मन में गायत्री मंत्र का जाप करें तो हमारे अंदर की नकारात्मक शक्तियां समाप्त हो जाती है और सकारात्मक ऊर्जा ओं का प्रभाव बढ़ने लगता है गायत्री मंत्रों का जाप करने से पहले एक बात का ध्यान रखें कि मंत्र को पहले अच्छे से याद कर ले और गायत्री मंत्र का जाप आंख बंद कर कर करें। मन की घबराहट या डर को दूर करने के लिए हमारी सलाह यही होगी कि आप गायत्री मंत्र का जाप कम से कम 51 बार करें।

मन की घबराहट को दूर करने के लिए भगवान विष्णु का महामंत्र

जैसा कि हम सब जानते हैं कि हमारे हिंदू धर्म में तीन प्रमुख देव हैं जिसमें से एक देव भगवान श्री विष्णु है, भगवान श्री विष्णु का मंत्र भी काफी शक्तिशाली है मन की घबराहट और डर को दूर करने के लिए भगवान श्री विष्णु स्वयं सृष्टि के पालनहार हैं और अगर आप सच्चे मन से भगवान श्री विष्णु के मंत्रों का जाप करते हैं तो यकीन मानिए आपके मन में जो भी घबराहट की स्थिति उत्पन्न हुई है वह इस मंत्र की वजह से नष्ट हो जाएगी.

॥ ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः ॥

भगवान श्री विष्णु का मंत्र काफी सरल है और इस मंत्र को आप किसी भी परिस्थिति में उपयोग कर सकते हैं मंत्र जाप करने से पहले कुछ बातों का ध्यान रखें कि मंत्र को कहीं पर स्वच्छ जमीन पर बैठकर ही जाप करें मंत्र जाप करते समय अपनी आंखें बंद रखें और मन में भगवान श्री हरि विष्णु का स्मरण करें.

श्री गणेश गायत्री मंत्र से करें अपने मन के घबराहट को दूर

सभी देवों में प्रथम पूजनीय भगवान श्री गणेश की महिमा अपरंपार है। जैसा कि हम सब जानते हैं कि भगवान श्री गणेश बुद्धि के देवता हैं और जो भी भक्त भगवान श्री गणेश की सच्चे मन से पूजा करता है भगवान श्री गणेश उन्हें सौभाग्य और बुद्धि का वरदान देते हैं पर भगवान श्री गणेश का स्मरण आप घबराहट या डर की स्थिति में भी कर सकते हैं और उनका एक प्रचंड मंत्र गणेश गायत्री मंत्र है जिनका जाप करने से आपके मन के घबराहट और डर तो दूर होती ही है साथ ही साथ अगर इन मंत्रों का जाप अब सच्चे मन से 11 दिनों तक करते हैं तो आपकी मन की हर मनोकामना भगवान श्री गणेश स्वयं पूर्ण करते हैं.

॥ ॐ एकदन्ताय विद्महे वक्रतुंडाय धीमहि तन्नो बुदि्ध प्रचोदयात ॥

अगर आपको अपने मन की घबराहट या डर को दूर करनी हो तो इस मंत्र का 11 बार आंख बंद कर कर जाप करें और अगर आपके मन में कोई ऐसी मनोकामना है जिसको आप पूर्ण करना चाहते हो तो रोज इस मंत्र का 108 बार 11 दिनों तक जाप करें आपकी हर मनोकामना भगवान श्री गणेश स्वयं पूरी करेंगे।

निष्कर्ष

मन की घबराहट दूर करने के लिए हमने जो भी मंत्र यहां पर बताए हैं वह अत्यंत ही कारगर और शक्तिशाली मंत्र हैं हम इस बात को भी जानते हैं कि आज के इस आधुनिक युग में कई लोग इस मंत्रों पर यकीन नहीं करते हैं पर हम अपने अनुभव से कह सकते हैं कि इन मंत्रों में काफी अधिक ऊर्जा होती है और अगर आप का भाव सच्चा हो और सच्चे मन से इन मंत्रों का जाप करेंगे तो आपको इसके सफल परिणाम जरूर मिलेंगे.

हमारी आप सब को सलाह होगी कि जब भी आप किसी भी मंत्र का उपयोग करें मंत्र का जाप करने से पहले अपने हाथ पैर अच्छे से धो लें, स्वच्छ स्थान पर बैठे हैं और किसी ऐसी जगह का चुनाव करें जहां शांति हो और आप एकांत में बैठकर इस मंत्र का जाप कर सके और किसी भी मंत्र का जाप करते समय मंत्रों के शब्दों का उच्चारण सही तरीके से करें तभी आपको इन मंत्रों का पूर्ण लाभ मिलेगा।

भगवान भोलेनाथ आप सबका कल्याण करें

जय महाकाल

Leave a Comment