माँ दुर्गा के 08 मंत्र, सफलता और खुशहाली के लिए. maa durga mantra in hindi.

maa durga mantra in hindi
maa durga mantra in hindi

आज हम आपको maa durga mantra in hindi के बारे में बताने जा रहे हैं. जिन मंत्रों का उपयोग करके आप स्वयं के लिए और अपने प्रियजनों के जीवन में खुशियां और सफलताएं ला सकते हैं।

कौन है मां दुर्गा, maa durga mantra in hindi.

maa durga mantra in hindi
maa durga mantra in hindi

जैसा कि आप सब में से अधिकतर लोग इस बात को जानते ही होंगे कि हमारे हिंदू धर्म में सबसे प्रमुख देवी जिनको माना जाता है वह मां दुर्गा है। मां दुर्गा को देवी शक्ति और जगदंबा के नाम से भी जाना जाता है। मां दुर्गा शाक्त संप्रदाय की प्रमुख एवं मुख्य देवी है और मां दुर्गा एकमात्र ऐसी देवी है जिनकी तुलना स्वयं परम ब्रह्म (ब्रम्हा) से की जाती है। मां दुर्गा के बारे में यह मान्यताएं प्रख्यात हैं कि वह सुख, शांति, समृद्धि तथा धर्म पर आघात करने वाले दुष्ट राक्षस और बुरी शक्तियों का विनाश करती है।

मां दुर्गा के वैसे तो कई रूप हैं पार्वती, लक्ष्मी, सावित्री पर इन सबसे अलग मां दुर्गा का मुख्य रूप गौरी है, इसका मतलब शांत, सुंदर और गोरा रूप होता है। मां दुर्गा का सबसे भयानक रूप जो है वह है मां काली का जिसका अर्थ होता है काला रूप। मां दुर्गा शेर की सवारी करती है और उनकी आठ भुजाएं हैं और हर भुजाओं में कोई ना कोई शस्त्र होते हैं।

यह भी जरूर पढ़े – माँ काली के 10 शक्तिशाली मंत्र

योग्य जीवनसाथी पाने के लिए maa durga mantra in hindi.

maa durga mantra in hindi

कई बार मनुष्य के जीवन में ऐसा होता है कि उसके विवाह में या तो विलंब होता है या फिर उसे मनचाहा या योग्य जीवनसाथी नहीं मिल पाता और ऐसी स्थिति में अगर विवाह हो भी गया तो विवाह के बाद भी कई सारे अड़चनें आती है।

अगर आप भी ऐसी स्थिति में हैं जहां आपके किसी दोषों के कारण विवाह में विलंब हो रहा है या आपको मनचाहा जीवनसाथी नहीं मिल पा रहा है तो नीचे दिए गए मां दुर्गा के दोनों मंत्रो का नियमित रूप से जाप करें, मां दुर्गा का आशीर्वाद आपको जरूर प्राप्त होगा और आपको जीवन में योग्य एवं मनचाहा जीवनसाथी प्राप्त होगा।

1.

।। हे गौरी शंकरधंगी, यथा तवं शंकरप्रिया । तथा मां कुरु कल्याणी, कान्तकान्तम् सुदुर्लभं ।।

2.

।। पत्‍‌नीं मनोरमां देहि मनोवृत्तानुसारिणीम् । तारिणीं दुर्गसंसारसागरस्य कुलोद्भवाम् ।।

यह भी जरूर पढ़े – शिव मंत्र जो बदल देंगे आपकी ज़िन्दगी

धन प्राप्ति के लिए मां दुर्गा का मंत्र

धन की कामना किस मनुष्य को नहीं होती। कहते हैं जिस मनुष्य के पास अपार धन होता है उसके पास कई सारी खुशियां खुद द्वार पर खड़ी होती है। पर कई बार आप मनुष्य के दिन रात मेहनत करने के बावजूद उसे धन की प्राप्ति नहीं होती और ऊपर से उसके ऊपर कर्ज की मार या अन्य बाधाएं आना भी शुरू हो जाती है।

अगर आप भी चाहते हैं कि आपको जीवन में अपार धन की प्राप्ति हो तो नीचे दिए गए इस मां दुर्गा के मंत्र का 9 दिनों तक रोज 108 बार जाप करें, उसके बाद आप खुद ही देखेंगे कि आपके जीवन में धन का आगमन तेजी से शुरू होने लगा है।

ॐ दुर्गे स्मृता हरसि भीतिमशेषजन्तो:, स्वस्थै: स्मृता मतिमतीव शुभां ददासि । दारिद्र्यदु:खभयहारिणि का त्वदन्या, सर्वोपकारकरणाय सदाऽऽ‌र्द्रचित्ता ॥

पापों से मुक्ति के लिए मां दुर्गा का मंत्र

कई बार ऐसा होता है कि मनुष्य से जाने अनजाने में कई सारे पाप हो जाते हैं जिनका दुष्परिणाम उसे भुगतना पड़ता है, और उस अनजाने में हुए पापों की वजह से उस मनुष्य के जिंदगी नर्क से भी बदतर हो जाता है।

अगर आप भी चाहते हैं कि आपके जीवन में किसी भी प्रकार के कोई पापों के दुष्परिणाम ना हो और आपके सारे पाप नष्ट हो जाए तो नीचे दिए गए मां दुर्गा के मंत्र का अष्टमी तिथि को 1000 बार जाप करने से सभी पापों से मुक्ति मिलती है.

॥ हिनस्ति दैत्यतेजांसि स्वनेनापूर्य या जगत् । सा घण्टा पातु नो देवि पापेभ्योऽन: सुतानिव ॥

यह भी जरूर पढ़े – Kuber mantra in hindi. 6 शक्तिशाली मंत्र धन और सुख पाने के लिए

जीवन की बाधाएं, नकारात्मक ऊर्जा और दुख दूर करने के लिए 04 मंत्र

नीचे दिए गए हर मंत्र से मनुष्य के जीवन में आने वाले किसी भी प्रकार की बाधाएं नकारात्मक ऊर्जाए, असफलताएं एवं किसी भी प्रकार के दुख दूर होते हैं और जातक को समस्त सुखों की प्राप्ति भी होती है। इन मंत्रों का जाप जरूरी नहीं है कि आप नवरात्रि के समय ही करें इन मंत्रों का जाप आप अपने दैनिक जीवन में प्रतिदिन कर सकते हैं जिससे आप को और अधिक सफलताएं और खुशियां प्राप्त होंगी और आपके जीवन में प्रगति आएगी।

इन मंत्रों में काफी अधिक ऊर्जा और शक्ति होती है जिनका अगर सच्चे मन से जाप किया जाए तो भरपूर मात्रा में आशीर्वाद प्राप्त होता है।

1.

सर्वमंगल मांगल्ये शिवे सर्वार्थ साधिके ।
शरण्ये त्र्यंबके गौरी नारायणि नमोऽस्तुते ।।

2.

ॐ जयन्ती मंगला काली भद्रकाली कपालिनी ।
दुर्गा क्षमा शिवा धात्री स्वाहा स्वधा नमोऽस्तुते ।।

3.

या देवी सर्वभूतेषु शक्तिरूपेण संस्थिता,
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।
या देवी सर्वभूतेषु लक्ष्मीरूपेण संस्थिता,
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।
या देवी सर्वभूतेषु तुष्टिरूपेण संस्थिता,
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।
या देवी सर्वभूतेषु मातृरूपेण संस्थिता,
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।
या देवी सर्वभूतेषु दयारूपेण संस्थिता,
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।
या देवी सर्वभूतेषु बुद्धिरूपेण संस्थिता,
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।
या देवी सर्वभूतेषु शांतिरूपेण संस्थिता,
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।

4.

॥ ॐ ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चै ॥

यह भी जरूर पढ़े – धन और सफलता पाने के लिए Ganesh mantra in hindi

कब होती है मां दुर्गा की मुख्य पूजा

Maa Durga
Maa Durga

अगर आप मां दुर्गा की कृपा पाना चाहते हैं तो आपको नवरात्रि के समय मां दुर्गा की पूजा करनी चाहिए जो काफी फलदाई होती है। नवरात्रि ही एकमात्र ऐसा पर्व है जिसमें महालक्ष्मी, सरस्वती, महाकाली और मां दुर्गा की साधना करके साधक अपने जीवन को सार्थक कर सकता है। अगर आपके भी जीवन में बाधाएं आ रही है या किसी प्रकार का भय है या आपको जीवन में सफलता नहीं मिल रही है तो ऊपर दिए गए मंत्रों का जाप करके आप अपनी इन सारी परेशानियों से छुटकारा पा सकते हैं।

माँ दुर्गा के 108 नाम
  1. भाव्या : भावना एवं ध्यान करने योग्य
  2. अभव्या : जिससे बढ़कर भव्य कुछ नहीं
  3. शाम्भवी : शिवप्रिया, शंभू की पत्नी
  4. चिन्ता : चिन्ता
  5. दक्षकन्या : दक्ष की बेटी
  6. अपर्णा : तपस्या के समय पत्ते को भी न खाने वाली
  7. ब्राह्मी : भगवान ब्रह्मा की शक्ति
  8. कौमारी : किशोरी
  9. वैष्णवी : अजेय
  10. चामुण्डा : चंड और मुंड का नाश करने वाली
  11. वाराही : वराह पर सवार होने वाली
  12. लक्ष्मी : सौभाग्य की देवी
  13. पुरुषाकृति : वह जो पुरुष धारण कर ले
  14. विमिलौत्त्कार्शिनी : आनन्द प्रदान करने वाली
  15. ज्ञाना : ज्ञान से भरी हुई
  16. क्रिया : हर कार्य में होने वाली
  17. नित्या : अनन्त
  18. बुद्धिदा : ज्ञान देने वाली
  19. बहुला : विभिन्न रूपों वाली
  20. युवती : नारी
  21. यति : तपस्वी
  22. अप्रौढा : जो कभी पुराना ना हो
  23. प्रौढा : जो पुराना है
  24. वृद्धमाता : शिथिल
  25. बलप्रदा : शक्ति देने वाली
  26. महोदरी : ब्रह्मांड को संभालने वाली
  27. मुक्तकेशी : खुले बाल वाली
  28. घोररूपा : एक भयंकर दृष्टिकोण वाली
  29. महाबला : अपार शक्ति वाली
  30. अग्निज्वाला : मार्मिक आग की तरह
  31. परमेश्वरी : प्रथम देवी
  32. कात्यायनी : ऋषि कात्यायन द्वारा पूजनीय
  33. सावित्री : सूर्य की बेटी
  34. प्रत्यक्षा : वास्तविक
  35. ब्रह्मवादिनी : वर्तमान में हर जगह वास करने वाली
  36. भवमोचनी : संसार बंधनों से मुक्त करने वाली
  37. आर्या : देवी
  38. दुर्गा : अपराजेय
  39. जया : विजयी
  40. आद्या : शुरूआत की वास्तविकता
  41. त्रिनेत्र : तीन आँखों वाली
  42. शूलधारिणी : शूल धारण करने वाली
  43. पिनाकधारिणी : शिव का त्रिशूल धारण करने वाली
  44. चित्रा : सुरम्य, सुंदर
  45. चंद्रघण्टा : प्रचण्ड स्वर से घण्टा नाद करने वाली, घंटे की आवाज निकालने वाली
  46. महातपा : भारी तपस्या करने वाली
  47. मन : मनन- शक्ति
  48. बुद्धि : सर्वज्ञाता
  49. अहंकारा : अभिमान करने वाली
  50. चित्तरूपा : वह जो सोच की अवस्था में है
  51. चिता : मृत्युशय्या
  52. चिति : चेतना
  53. सर्वमन्त्रमयी : सभी मंत्रों का ज्ञान रखने वाली
  54. सत्ता : सत्-स्वरूपा, जो सब से ऊपर है
  55. सत्यानन्दस्वरूपिणी : अनन्त आनंद का रूप
  56. अनन्ता : जिनके स्वरूप का कहीं अन्त नहीं
  57. भाविनी : सबको उत्पन्न करने वाली, खूबसूरत औरत
  58. अनेकवर्णा : अनेक रंगों वाली
  59. पाटला : लाल रंग वाली
  60. पाटलावती : गुलाब के फूल या लाल परिधान या फूल धारण करने वाली
  61. पट्टाम्बरपरीधाना : रेशमी वस्त्र पहनने वाली
  62. कलामंजीरारंजिनी : पायल को धारण करके प्रसन्न रहने वाली
  63. अमेय : जिसकी कोई सीमा नहीं
  64. विक्रमा : असीम पराक्रमी
  65. क्रूरा : दैत्यों के प्रति कठोर
  66. सुन्दरी : सुंदर रूप वाली
  67. सुरसुन्दरी : अत्यंत सुंदर
  68. वनदुर्गा : जंगलों की देवी, बनशंकरी अथवा शाकम्भरी
  69. मातंगी : मतंगा की देवी
  70. मातंगमुनिपूजिता : बाबा मतंगा द्वारा पूजनीय
  71. बहुलप्रेमा : सर्व प्रिय
  72. सर्ववाहनवाहना : सभी वाहन पर विराजमान होने वाली
  73. निशुम्भशुम्भहननी : शुम्भ, निशुम्भ का वध करने वाली
  74. महिषासुरमर्दिनि : महिषासुर का वध करने वाली
  75. मधुकैटभहंत्री : मधु व कैटभ का नाश करने वाली
  76. चण्डमुण्ड विनाशिनि : चंड और मुंड का नाश करने वाली
  77. सर्वासुरविनाशा : सभी राक्षसों का नाश करने वाली
  78. सर्वदानवघातिनी : संहार के लिए शक्ति रखने वाली
  79. सर्वशास्त्रमयी : सभी सिद्धांतों में निपुण
  80. सत्या : सच्चाई
  81. सर्वास्त्रधारिणी : सभी हथियारों धारण करने वाली
  82. अनेकशस्त्रहस्ता : हाथों में कई हथियार धारण करने वाली
  83. अनेकास्त्रधारिणी : अनेक हथियारों को धारण करने वाली
  84. कुमारी : सुंदर किशोरी
  85. एककन्या : कन्या
  86. कैशोरी : जवान लड़की
  87. सती : अग्नि में जल कर भी जीवित होने वाली
  88. साध्वी : आशावादी
  89. भवप्रीता : भगवान् शिव पर प्रीति रखने वाली
  90. भवानी : ब्रह्मांड की निवास
  91. भव्या : कल्याणरूपा, भव्यता के साथ
  92. सदागति : हमेशा गति में, मोक्ष दान
  93. देवमाता : देवगण की माता
  94. रत्नप्रिया : गहने से प्यार
  95. सर्वविद्या : ज्ञान का निवास
  96. दक्षयज्ञविनाशिनी : दक्ष के यज्ञ को रोकने वाली
  97. माहेश्वरी : प्रभु शिव की शक्ति
  98. इंद्री : इन्द्र की शक्ति
  99. रौद्रमुखी : विध्वंसक रुद्र की तरह भयंकर चेहरा
  100. कालरात्रि : काले रंग वाली
  101. तपस्विनी : तपस्या में लगे हुए
  102. नारायणी : भगवान नारायण की विनाशकारी रूप
  103. भद्रकाली : काली का भयंकर रूप
  104. विष्णुमाया : भगवान विष्णु का जादू
  105. जलोदरी : ब्रह्मांड में निवास करने वाली
  106. शिवदूती : भगवान शिव की राजदूत
  107. करली : हिंसक
  108. अनन्ता : विनाश रहित

तो यह थी हमारे द्वारा प्रस्तुतु की गई maa durga mantra in hindi और माँ दुर्गा के कुछ बहुत ही शक्तिशाली मंत्र जिनका अगर आप नियमित रूप से जाप करते है तो आपको माँ का आशीर्वाद भी प्राप्त होगा और साथ ही आपके जीवन में सुख, शांति और समृद्धि भी आएगी.

जय महाकाल….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *