सबसे सफल तुलसी वशीकरण मंत्र. Tulsi ke patte se vashikaran

Tulsi ke patte se vashikaran
Tulsi ke patte se vashikaran

आज हम आपको जिस वशीकरण क्रिया के बारे में बताने जा रहे हैं उसमें आप Tulsi ke patte se vashikaran कर सकेंगे। अगर आप किसी ऐसे वशीकरण को तलाश रहे हैं जो आसान भी हो और जिसे करने के बाद आपको वशीकरण का पूरा लाभ मिले तो आपको तुलसी के पत्ते से वशीकरण की क्रिया को एक बार जरूर आजमाना चाहिए।

आप सब लोग जानते ही होंगे कि हमारे हिंदू धर्म में तुलसी के पौधे का कितना बड़ा महत्व है, हिंदू शास्त्र के अनुसार तुलसी का पौधा जिस घर में होता है उस घर को कभी बुरी नजर नहीं लगती और जो तुलसी के पौधे की सेवा करता है उसे हर प्रकार का सुख प्राप्त होता है तुलसी का पौधा आपके घर और आपके जीवन से नकारात्मक उर्जाये और बाधाएं को दूर करने में अहम भूमिका निभाता है।

वशीकरण बीज मंत्र का सबसे सफल और अचूक प्रयोग

जो भी मनुष्य नित्य सुबह स्नान करके शुद्ध अवस्था में तुलसी की पूजा अर्चना करता है और तुलसी के पौधे की सेवा करता है उसके जीवन में धन-धान्य तो आता ही है साथ ही उसके सौभाग्य में भी वृद्धि होती है और यही नहीं जिस किसी भी की घर के आंगन में तुलसी का पौधा होता है उस घर में कभी भी कोई भी नकारात्मक ऊर्जा ही नहीं रहती और उस घर में कभी भी किसी भी प्रकार का कोई कलेश, झगड़ा नहीं होता।

तो आइए अब और समय व्यर्थ ना करते हुए जान लेते हैं कि तुलसी के पत्ते से वशीकरण (Tulsi ke patte se vashikaran) कैसे किया जाता है।

यह भी पढ़े – Kapde se vashikaran 100% गारंटी के साथ होगा वशीकरण

Tulsi ke patte se vashikaran

Tulsi ke patte se vashikaran
Tulsi ke patte se vashikaran

यह काफी असरदार Tulsi ke patte se vashikaran वशीकरण क्रिया है अपने प्रेमी या प्रेमिका का वशीकरण करने के लिए। इस वशीकरण क्रिया को आप किसी भी दिन या किसी भी समय कर सकते हैं, इसमें समय और दिन की कोई सीमा नहीं है। इस वशीकरण क्रिया को करने के लिए सबसे पहले आपको 11 ताजे तुलसी के पत्ते की आवश्यकता पड़ेगी और थोड़े से सफेद गुड़ की। अब इन 11 ताजे तुलसी के पत्तों और सफेद गुड़ को किसी मिट्टी के पात्र में रख के अच्छे से पीस लें और पिस्ते समय नीचे दिए गए मंदिर का निरंतर जाप करते रहे, मंत्र जाप की कोई सीमा नहीं है पर कोशिश करेंगे कम से कम 108 बार इस मंत्र का जाप करें ।

॥ ॐ नमः इच्छारूपिणी देवी मंम (अमुकम) वश्य्मे ॥

जब आप के मंत्र जब पूरे हो जाएं तब उस तुलसी और गुड़ के लेप को किसी भी खाने की वस्तु में मिलाएं और फिर से इसी मंत्र का 21 बार जाप करके उस खाने की वस्तु के ऊपर तीन बार फूंक मारे और खाने की वस्तु में से एक निवाला पहले खुद ग्रहण करें उसके बाद यह खाने की वस्तु उसे खाने के लिए दे जिसका वशीकरण करना चाहते हैं। यह एक अत्यंत ही सफल वशीकरण प्रयोग है अपने प्रेमी या प्रेमिका का वशीकरण करने का।

तुलसी के पौधे से वशीकरण

Tulsi

इस Tulsi ke patte se vashikaran वशीकरण क्रिया को करने के लिए आपको उस व्यक्ति या महिला या जिसका आप वशीकरण करना चाहते हैं उसके फोटो की आवश्यकता पड़ेगी। पर ध्यान रहे आप जिसका भी वशीकरण करना चाहते हैं उससे आपकी थोड़ी बहुत जान पहचान है होना जरूरी है, वरना आप किसी के भी फोटो के साथ इस वशीकरण क्रिया को करने की कोशिश करेंगे तो एक वशीकरण क्रिया काम नहीं करेगी।

फोटो लाने के बाद बाजार से तुलसी का एक पौधा भी खरीद लें जो ज्यादा बढ़ा ना हो उसके बाद शनिवार की सुबह सबसे पहले फोटो के पीछे नीचे दिया गया मंत्र काले रंग की स्याही से लिखें और मंत्र लिखने के बाद उसके नीचे अपना और अपने प्रेमिका या प्रेमी का दोनों का नाम लिखें।

॥ ॐ नमो आदि रुपाय, वश्यं कुरु कुरु स्वाहा ॥

नाम लिखने के बाद अपने घर के आंगन में ही एक छोटा सा गड्ढा खोदकर सबसे पहले उस फोटो को रखे उसके ऊपर इस तुलसी के पौधे को रखें और उस गड्ढे को अच्छे से बंद कर दें और रोज इस तुलसी के पौधे की सेवा करें और उसे जल चढ़ाएं. जैसे जैसे वह पौधा बड़ा होते जाएगा आपकी वशीकरण क्रिया पूरी होते जाएगी। एक बात का ध्यान रखें कि इस वशीकरण क्रिया को संपूर्ण होने में कम से कम महीने भर का समय लगता है इसलिए संयम और धीरज बनाए रखें अगर आपने सच्चे मन से इस वशीकरण क्रिया को किया है तो आपको सफल परिणाम जरूर मिलेंगे।

यह भी पढ़े – Stri Vashikaran करने के 12 आसान और शक्तिशाली मंत्र और टोटके

Tulsi ke patte se vashikaran mantra

Tulsi
Tulsi ke patte se vashikaran mantra

यह Tulsi ke patte se vashikaran वशीकरण अत्यंत सरल है पर अति शक्तिशाली है। इस वशीकरण क्रिया को आप केवल शुक्रवार के दिन ही कर सकते हैं इसे करने के लिए सबसे पहले तुलसी के दो ताजे पत्ते तोड़ ले और ध्यान रहे कि पत्ते थोड़े बड़े हो ताकि आप उस पत्तों में अपना और जिसका वशीकरण करना चाहते हैं उस व्यक्ति या महिला का नाम लिख सकें।

पत्ते तोड़ने के बाद शुद्ध अवस्था में किसी एकांत स्थान पर लाल आसन बिछाकर बैठ जाएं और उन पत्तों के ऊपर लाल रंग की स्याही की कलम से अपना और अपने प्रेमिका या प्रेमी का नाम लिखें। नाम लिखने के बाद दोनों पत्तों को अपने दाहिने हाथ में रख ले और नीचे दिए गए मंत्र का 180 बार जप करें ध्यान रहे हर बार मंत्र पढ़ने के बाद आपको उन तुलसी के दोनों पत्तों के ऊपर फूंक मारने हैं ऐसा करते हुए आपको 180 बार मंत्रों का जाप भी करना है और 180 बार पत्तों के ऊपर फूंक भी मारनी है।

|| ॐ त्रिपुरये विद्गभाजी तुलसी पतराये दृमिये त्रंत्रो : तुलसी प्रचोदयात ||

जब आपके मंत्रों के जाप पूरे हो जाए तब इन दोनों पत्तों को अपने पूजा गृह में या किसी ऐसी जगह छुपा कर रखदे जहां किसी की नजर ना पड़े और तब तक रखें रहे जब तक सामने वाला पूरी तरह आपके वश में ना हो जाए। अगर आप सही विधि विधान और शुद्ध मन से इस क्रिया को करेंगे तो 10 दिन के अंदर ही अंदर आपको इस वशीकरण क्रिया के सफल परिणाम दिख जायेंगे।

यह भी पढ़े – सिर के बाल से वशीकरण. Baal se vashikaran in hindi

तुलसी वशीकरण तिलक

इस वशीकरण क्रिया को एक प्रकार से टोटका भी कहा जाता है क्योंकि इसमें मंत्रों का कोई इस्तेमाल नहीं होता। पर यह टोटका भी वशीकरण मंत्र के जितना ही शक्तिशाली होता है। वशीकरण तिलक की सबसे बड़ी खासियत यह होती है की वशीकरण तिलक से आप एक नहीं कई सारे लोगों को एक साथ अपनी तरफ आकर्षित कर सकते हैं।

इस तुलसी वशीकरण तिलक को तैयार करने के लिए आपको सबसे पहले शनिवार के दिन कुछ तुलसी के बीजों को पीसना है और पिस्ते समय उन तुलसी के बीजों के अंदर काली हल्दी मिलाएं और उसके बाद थोड़ा सा आंवले का रस भी। इन सब चीजों को अच्छे से पीसने के बाद इसे एक कांच की छोटी सी डिब्बी में डालें और अपने पूजा गृह में कम से कम 3 दिन तक रखें और रोज इसकी पूजा करें उसके बाद चौथे दिन से आप इस तिलक को लगाकर जिस किसी के भी सामने जाएंगे वह आपसे अति आकर्षित होगा और आपकी हर बात मानने लगेगा।

यह भी पढ़े – तुरंत वशीकरण करने के 06 तरीके

तुलसी वशीकरण प्रयोग

इस वशीकरण प्रयोग को आप केवल गुरुवार के दिन ही कर सकते हैं वह भी सुबह ब्रह्म मुहूर्त में. सबसे पहले ब्रह्म मुहूर्त में स्नान आदि करके शुद्ध हो जाएं और तुलसी के दो ताजे पत्ते तोड़ के लाये, एक बात का ध्यान रखें कि तुलसी के दोनों पत्ते साफ-सुथरे और बिना कटे हुए साबुत पत्ते होने चाहिए. अब इन दोनों पत्तों को गाय के कच्चे दूध में अच्छे से धो लें. फिर उसके बाद रक्त चंदन में थोड़ा सा पानी मिलाकर उसका एक लेप बना लें और उस लेप की मदद से एक पत्ते में अपना नाम लिखें और दूसरे पत्ते में जिसका वशीकरण करना चाहते हैं उसका नाम लिखें.

आप नाम लिखने के लिए माचिस की काडी का इस्तेमाल कर सकते हैं। नाम लिखने के बाद उत्तर की ओर मुख करके स्वच्छ स्थान पर बैठ जाएं और अगर लाल रंग के आसन लगाकर बैठेंगे तो अति उत्तम होगा उसके बाद नीचे दिए गए मंत्र का 151 बार जाप करें..

॥ ॐ ह्रीं ह्रीं ठः क्लिं वश्य्मे वश्य्मे स्वाहा ॥

मंत्र जाप करने के बाद तुलसी के दोनों पत्तों को किसी बहते हुए स्वच्छ पानी में प्रवाह कर दें एक बात का और ध्यान रखें कि यह पूरी क्रिया आपको गुरुवार के दिन ही करनी है।

तुलसी और आम के पत्तों से वशीकरण

यह काफी सरल वशीकरण क्रिया है और इस वशीकरण क्रिया को आप केवल शनिवार के दिन सुबह ही कर सकते हैं वह भी दोपहर 12:00 बजे के पहले. इसे करने के लिए सबसे पहले 7 आम के पत्ते और 7 तुलसी के शुद्ध साफ पत्ते तोड़ ले और इन सभी पतों को किसी शुद्ध जल से अच्छे से धोके साफ करके सुखा लें.

उसके बाद वशीकरण क्रिया को शुरू करने से पहले सफेद वस्त्र धारण करें और सफेद रंग का आसन लगाएं और अपने सामने एक लोटा जल रखें अगर लोटा तांबे का हो तो अति उत्तम है वरना लोहे का भी चलेगा और उसके बाद जिस को वश में करना चाहते हैं उसके एक फोटो भी अपने सामने रखें उसके बाद नीचे दिया गया मंत्र का 512 बार जाप करें.

॥ ॐ नमो भगवते वासुदेवाय (अमुक) मंम वश्यं करणे फट स्वाहा ॥

जाप करने के बाद लोटे में रखे जल के ऊपर 21 बार फूंक मारे और इस जल को थोड़ा सा खुद ग्रहण करें और उन सभी पत्तो को सफेद रंग के कपड़े में बांधकर उसके पोटली बनाकर अपने पास संभाल कर रखें जब तक आप के वशीकरण के लिए सफल नहीं हो जाती. ध्यान रहे एक बार जब आपकी वशीकरण क्रिया सफल हो जाए तब इस पोटली को किसी श्मशान के अंदर फेंक दें और अगर आप शमशान के अंदर नहीं फेंक सकते हैं तो किसी पीपल के पेड़ के नीचे जड़ के पास इसे गाड़ दे।

मनोकामना पूर्ण करने हेतु तुलसी पूजा

मनोकामना पूर्ण करने हेतु तुलसी पूजा
मनोकामना पूर्ण करने हेतु तुलसी पूजा

सिर्फ Tulsi ke patte se vashikaran ही नहीं आप तुलसी के पौधे की पूजा करके भी अपने किसी भी मनोकामना को पूर्ण कर सकते हैं जिस की विधि हम आपको भी बताने जा रहे हैं.

इस प्रयोग को आप केवल शुक्रवार के सुबह ही कर सकते हैं, इसे करने के लिए सबसे पहले नहा के शुद्ध हो जाए फिर कुछ तुलसी के बीज, लौंग, इलायची और एक साबुत सुपारी को किसी लाल रंग के कपड़े के अंदर बांध के छोटी सी पोटली बना लें और अपने घर के पूजा गृह में माता लक्ष्मी की तस्वीर के सामने रखे और उसके सामने घी का दीपक जलाएं और इस पोटली को उसके सामने रखें और पंचोपचार विधि से माता लक्ष्मी की पूजा करें.

पूजा करने के बाद माता लक्ष्मी का लक्ष्मी स्रोत का पाठ भी पूरा करें और इस पोटली को शुक्रवार के पूरे दिन भर माता लक्ष्मी के सामने ही रहने दें. अगले दिन सुबह यानी शनिवार को हनुमान जी के मंदिर में जाकर हनुमान जी के सामने घी का दीपक जलाएं और उन्हीं के सामने बैठकर हनुमान चालीसा का पाठ करें और शाम को माता लक्ष्मी के सामने रखे हुए पोटली के अंदर की सामग्री को निकाल कर एक ताबीज के अंदर डालकर अपनी दाई भुजा में बांध ले.

अगर आप इस पूजा विधि को सच्चे मन से करते हैं तो यकीन मानिए आपकी हर मनोकामना पूर्ण होगी और आपके ऊपर किसी भी प्रकार की कोई भी बाधाएं नहीं आएगी।

तुलसी को जल अर्पित करके मनोकामना पूर्ति

यदि आपका प्रेमी या प्रेमिका आप से रूठ के दूर चला गया है या की कोई ऐसी मनोकामना है जो कई महीनों से पूर्ण नहीं हो रही है, तो आप तुलसी के पौधे की पूजा अर्चना और तुलसी के पौधे को जल अर्पित करके भी अपनी मनोकामना पूर्ण कर सकते हैं.

इसे करने के लिए रोज सुबह स्नान इत्यादि करके शुद्ध हो जाएं और एक तांबे के लोटे में थोड़ा सा शुद्ध जल ले और उसमें थोड़ी सी मिश्री या चीनी मिलाएं उसके बाद तुलसी के पौधे को दोनों हाथों से इस जल को अर्पित करें और जल को अर्पित करने के बाद दोनों हाथ जोड़कर आंख बंद करके अपनी मनोकामना तुलसी के पौधे के सामने व्यक्त करें.

ऐसा रोजाना करें, सच्चे हृदय से अगर आप तुलसी के सामने अपनी मनोकामना व्यक्त करते हैं और लगातार तीन महीनों तक उनके सामने जल अर्पित करते हैं तो आपकी मनोकामना जरूर पूर्ण होगी।

नौकरी में आ रही परेशानियों से छुटकारा
तुलसी बीज
तुलसी बीज

अगर आपके ऑफिस में या दुकान में या जहा जहां भी आप काम करते हो वहां पर आपके सहकर्मी या बॉस का व्यवहार आपके साथ अच्छा नहीं है, आए दिन आप के साथ कुछ ना कुछ अनिष्ट होता है तो यह टोटका आप जरूर आजमा कर देखिए.

इसे करने के लिए सबसे पहले एक सफेद कपड़े के अंदर तुलसी बीज के 16 बीज को बांध लें और इस पोटली को अपने ऑफिस या जहां भी आप काम करते हैं वहां पर किसी ऐसी जगह गाड़ दें जहा थोड़ी सी मिट्टी हो. 10 से 15 दिन के भीतर आप देखेंगे कि आप के खिलाफ हो रहे जितने भी साजिश है सब खत्म हो जाएगी और सब आपके साथ मेलजोल के साथ रहेंगे।

जय महाकाल….

Leave a Comment