शाबर मंत्र | हनुमान शाबर वशीकरण के 06 शक्तिशाली मंत्र

सबसे सफल और तीव्र वशीकरण साधना

हनुमान शाबर वशीकरण मंत्र
हनुमान शाबर वशीकरण मंत्र

आज के हमारे इस अध्याय में हम आप सभी के लिए शाबर मंत्रों का कुछ दुर्लभ संग्रह लेकर आए हैं जिनमें हनुमान शाबर वशीकरण मंत्र के 06 शक्तिशाली मंत्रों का संग्रह है। जैसा कि हम सब जानते हैं कि हिंदू धर्म में मंत्रों का कितना अधिक महत्व है हर देवी देवताओं के अलग-अलग मंत्र होते हैं जिनका उपयोग करके हम उस देवी या देवता का विधिवत पूजा अर्चना करते हैं।

कई पौराणिक शास्त्रों में इस बात के तथ्य मिलते हैं कि अगर हम रोज विधिवत अपने इष्ट देव की पूजा नहीं कर सकते तो कम से कम उनके मंत्रों का जाप सही विधि विधान से कर ले तो हमारे जीवन में आने वाले समस्त परेशानियां और विघ्नों का नाश हो जाता है और हमारे जीवन में सुख, शांति और समृद्धि आती है, क्योंकि मंत्रों में काफी अधिक ऊर्जा होती है और अगर सही विधि विधान से इनका जाप किया जाए तो हमारे जीवन में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है जिसका असर हमारे मस्तिष्क और हमारे जीवन में पड़ता है.

आइए अब आगे जान लेते हैं कि आज के इस अध्याय में हम कौन से ऐसे दुर्लभ शाबर मंत्र आपके साथ साझा करने जा रहे हैं जिनका उपयोग आप अपने दैनिक जीवन में कर सकते हैं।

यह भी पढ़े :- Shabar mantra – सबसे शक्तिशाली वशीकरण मंत्र

क्या हैं शाबर मंत्र ?

किसी भी शाबर मंत्र के उपयोग से पहले हमें सबसे पहले इस बात की जानकारी होनी चाहिए कि आखिर यह शाबर मंत्र होते क्या है अगर आप नहीं जानते हो तो आपकी जानकारी के लिए बता दें कि साबर मंत्र ग्रामीण भाषाओं में लिखे हुए मंत्र होते हैं जिसकी रचना स्वयं गुरु गोरखनाथ जी ने की थी आपको जानकर हैरानी होगी कि यह मंत्र हिंदू धर्म के अनुसार नहीं अपितु इस्लामिक तथा अन्य धार्मिक भाषाओं में लिखे हुए हैं, शाबर मंत्रों की सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि यह मंत्र पहले से ही सिद्ध होते हैं और इन मंत्र को सिद्ध करने की आवश्यकता नहीं होती, इसलिए जो भी जातक इन मंत्रों का प्रयोग करना चाहते हैं उसके मन में केवल दृढ़ संकल्प और सच्ची भावनाएं होनी चाहिए।

हनुमान शाबर वशीकरण मंत्र

शाबर मंत्र

वशीकरण मंत्रों में शाबर वशीकरण मंत्र को सबसे ज्यादा शक्तिशाली माना गया है और ऐसी मान्यता है की इन मंत्रों का उपयोग करके अगर किसी का वशीकरण किया जाए तो उस वशीकरण का कोई काट नहीं होता और ना ही जिसके ऊपर इस वशीकरण क्रिया को किया जाता है उसके ऊपर कोई बुरा या नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। आज हम जो हनुमान शाबर मंत्र आपके साथ साझा करने जा रहे हैं यह अत्यंत शक्तिशाली मंत्र है और जैसा कि हमने पहले ही कहा कि यह मंत्र ग्रामीण और देहाती भाषा में लिखे हुए होते हैं इसलिए इनके जाप में भी कोई परेशानी नहीं आती, तो चलिए जान लेते हैं कि इस मंत्र का उपयोग किस प्रकार से किया जाता है।

साधना विधि :-

इस शाबर वशीकरण मंत्र का उपयोग किसी भी मंगलवार या शनिवार से ही शुरू करें सबसे पहले सुबह स्नान इत्यादि करके हनुमान मंदिर जाएं और हनुमान जी को लंगोट, पीले फूल की माला और बेसन के लड्डू का प्रसाद चढ़ाएं और उसके बाद किसी शुद्ध जगह का चुनाव करें, एक बात का ध्यान रखें कि जिस जगह आप इस साधना को शुरू कर रहे हैं लगातार पांच दिनों तक उसी जगह पर साधना को करें और जगह को ना बदलें।

॥हनुमान जाग- किलकारी मार- तू हुंकारे- राम काज संवारे- ओढ़ सिंदूर सीता मैया का- तू प्रहरी राम द्वारे- मैं बुलाऊँ , तु अब आ- राम गीत तु गाता आ- नहीं आये तो हनुमाना- श्री राम जी ओर सीता मैया कि दुहाई- शब्द साँचा- पिंड कांचा- फुरो मन्त्र ईश्वरोवाचा॥

साधना के समय केवल काले वस्त्र ही धारण करें और इस क्रिया को लगातार पांच दिनों तक करें और रोज पांच माला इस मंत्र का जाप करें, मंत्र जाप करने के लिए आप किसी भी माले का इस्तेमाल कर सकते हैं। मंत्र जाप करते समय मन में उस व्यक्ति या महिला का विचार करें जिसका वशीकरण करना चाहते हैं, जब आप के 5 दिन के मंत्र जाप समाप्त हो जाए तब छठवें दिन फिर से हनुमान जी के मंदिर जाएं और उनसे प्रार्थना करें कि आपने जो साधना की है उसमें आपको सफलता प्रदान करें और अपना आशीर्वाद दें। अगर अपने सच्चे मन से इस वशीकरण साधना को किया तो अति शीघ्र आपको इसके शुभ परिणाम मिलेंगे।

हनुमान शाबर वशीकरण मंत्र साधना

हनुमान शाबर वशीकरण मंत्र साधना
हनुमान शाबर वशीकरण मंत्र साधना

यह अत्यंत ही शक्तिशाली और तीव्र वशीकरण शाबर मंत्र है इस मंत्र का प्रयोग आपको लगातार सात दिनों तक करना है पर ध्यान रहे कि इस साधना की शुरुआत मंगलवार या शनिवार से ही कर सकते हैं। इस मंत्र को सिद्ध करने की आवश्यकता नहीं होती क्योंकि यह मंत्र पहले से ही सिद्ध मंत्र है, इस वशीकरण साधना को करने के लिए जिस भी मंगलवार या शनिवार से आप इस साधना को शुरू करना चाहते हैं उस दिन स्नान करके शुद्ध हो जाए और संध्याकाल में हनुमान जी के मंदिर जाएं और उन्हें तीन पान के पत्ते और तीन लॉन्ग अर्पित करें और उसके बाद उन्हीं के सामने बैठकर इस मंत्र का 1001 बार जाप करें.

॥जय हनुमंता तेज चलंता शहर गांव मरघट मे रमता
भैरव साथ उमाको नमता मेरे वश मे अमुक कु लावता
नमु हनुमंत बजरंग बल बीरा ध्यान धरूं
हिदायत मे धीरा॥

ऐसा लगातार 7 दिनों तक करें जब आपके साथ दिनों तक के मंत्र जाप समाप्त हो जाएं तब किसी भी चौराहे की मिट्टी उठाकर इस मंत्र को 11 बार पढ़ कर उस मिट्टी के ऊपर फूंक मारे और अपने प्रेमी या प्रेमिका के घर के आगे उस मिट्टी को फेंक दें ध्यान रहे मिट्टी को ऐसी जगह है जहां पर उनका पैर इस मिट्टी के ऊपर पड़े तभी यह वशीकरण क्रिया काम करेगी अन्यथा आपका वशीकरण क्रिया सफल नहीं हो पाएगा। सच्चे मन से किया गया यह वशीकरण अत्यंत तीव्र और सफल होता है और इसके परिणाम भी आपको जल्द से जल्द देखने को मिलते हैं।

हनुमान शाबर वशीकरण का तीव्र मंत्र

वशीकरण का तीव्र मंत्र
वशीकरण का तीव्र मंत्र

यह वशीकरण साधना आपको लगातार 21 दिनों तक करनी है और इसकी शुरुआत आपको शनिवार के शुभ दिन से करनी होगी, शनिवार को संध्याकाल में हनुमान जी के मंदिर जाएं और हनुमान जी को पीले पुष्प और बेसन का लड्डू का भोग लगाएं और रुद्राक्ष की माला का उपयोग करते हुए हनुमान जी के सामने बैठकर इस मंत्र का 108 बार जाप करें.

॥ओम नमो आदेश गुरू को
राजा मोहू, प्रजा मोहू,
मोहू बह्रामण बनिया,
हनुमंत रूप मे जगत मोहू,
‌‌‌तो रामचंद्र परमनिया,
गुरू की शक्ति,
मेरी भक्ति फुरो मंत्र ईश्वर वाचा॥

इस प्रक्रिया को आपको लगातार 21 दिनों तक करना है और मंत्र जाप करते समय मन में उसी का स्मरण करें जिसका वशीकरण करना चाहते हैं 21 दिनों तक जब आप के मंत्र जाप समाप्त हो जाए तब जब कभी भी इस वशीकरण मंत्र का प्रयोग करना है होगा तो हनुमान जी के मंदिर जाएं और उनके चरणों के सुंदूर को निकालकर इस मंत्र का 11 बार जाप करते हुए उस सिंदूर का टीका अपने माथे पर लगाएं और उस व्यक्ति या महिला के सामने जाए जिसके लिए अपने इस वशीकरण साधना को किया था यह वशीकरण साधना इतना शक्तिशाली है कि अगर सही विधि विधान से अपने मंत्रों का जाप किया तो सामने वाला कुछ ही दिनों में पूर्ण रुप से आपके वश में होगा।

हनुमान शाबर सिद्ध वशीकरण मंत्र

वास्तव में यह वशीकरण मंत्र नहीं है पर इस मंत्र का प्रयोग करके आप अपने प्रेमी या प्रेमिका का वशीकरण कर सकते हैं इस प्रक्रिया को या इस साधना को आप अपने घर में भी कर सकते हैं लेकिन एक बात का ध्यान रखें जिस भी जगह करें वह जगह स्वच्छ हो और साधना के दौरान ब्रम्हचर्य का पूर्ण रुप से पालन करें और मांस मदिरा का सेवन बिल्कुल ना करें नीचे दिए गए इस मंत्र का आप किसी भी दिन से शुरुआत कर सकते हैं पर ध्यान रहे कि आपके पूजा घर में हनुमान जी की छोटी सी मूर्ति या उनकी तस्वीर जरूर हो।

॥ॐ हनुमान पहलवान , वर्ष बारहा का जवान|
हाथ में लड्डू, मुख में पान| आओ आओ बाबा हनुमान|,
न आओ तो दुहाई महादेव गौरा -पार्वती की| शब्द,
साँचा पिण्ड काँचा फुरो मन्त्र इश्वरो वाचा॥

सबसे पहले अगर आप इस प्रक्रिया को अपने घर में कर रहे हो तो हनुमान जी की पूजा अर्चना करें और इस मंत्र का उनके सामने बैठकर एक हजार एक बार जाप करें, ऐसा लगातार तीन दिनों तक करें जब आप के मंत्र जाप समाप्त हो जाएं तब चौथे दिन एक पीला नींबू ले और उसके ऊपर लाल रंग की स्याही से जिसका वशीकरण करना है उसका नाम लिखें और इस मंत्र का 3 बार उच्चारण करते हुए उस नींबू को किसी चौराहे पर रख कर बिना पीछे मुड़े घर वापस आ जाए।

इस मंत्र को सिर्फ एक बार बोलने से होता है वशीकरण

यह मंत्र इतना तीव्र है कि इसका सिर्फ एक बार उच्चारण करने से वशीकरण सफल होता है पर इसका उपयोग वही लोग करें जो सच्चे हनुमान भक्त हो अन्यथा यह मंत्र सफल नहीं होगा इसका उपयोग करने के लिए जिस भी दिन वशीकरण करना चाहते हो उस दिन हनुमान जी के मंदिर जाएं और हनुमान जी के सामने बैठकर हनुमान चालीसा का एक पाठ करें और एक पाठ हनुमान अष्टक का करें उसके बाद हनुमान जी की पूजा की सिंदूर को लेकर अपने माथे पर लगाएं और उस व्यक्ति या महिला के समक्ष जाएं जिसका अब वशीकरण करना चाहते हो और उनके सामने मन ही मन इस मंत्र का एक बार जाप करें.

॥माता अंजनी का हनुमान मैं मनाउ तू कहना मान,
पूजा दे सिंदूर चढाउं अमुक को रिझाउं और उसको पाउं,
यह टीका तेरी शान का ,वह आवे मैं जब लगाउं,
नहीं आवै तो राजा राम की दुहाई,
मेरा काम कर नहीं आवे तो अंजन का सेज पड़॥

अगर वाकई में आप हनुमान भक्त हैं और अपने सच्चे मन से अपने प्रेमी या प्रेमिका के वशीकरण के लिए इस मंत्र का जाप करके हनुमान जी से प्रार्थना की हो तो यह वशीकरण आपका जरूर सफल होगा और आपको इसके शुभ परिणाम जल्द से जल्द दिखाई देंगे।

निष्कर्ष

किसी का भी वशीकरण करने के लिए शाबर मंत्र अत्यंत ही शक्तिशाली होते हैं और हनुमान शाबर मंत्र हमेशा सफल होते हैं अगर सच्चे मन और दृढ़ संकल्प से किया जाए पर हर बार की तरह हम आप सभी से आग्रह करेंगे की इन मंत्रों का उपयोग तभी करें जब आपका लक्ष्य सच्चा हो अन्यथा अपने स्वार्थ या किसी का हानि पहुंचाने के लिए इन मंत्रों का उपयोग ना करें अन्यथा इसके नुकसान के आप खुद ही जिम्मेदार होंगे।

जय श्री राम
जय हनुमान

Leave a Comment