वास्तु के अनुसार बेडरूम का कलर कैसा होना चाहिए – Vastu Tips.

जानिए की वास्तु शाश्त्र के अनुसार आपके बेडरूम का कलर कैसा होना चाहिए.

बेडरूम का कलर कैसा होना चाहिए
बेडरूम का कलर कैसा होना चाहिए

बेडरूम का कलर कैसा होना चाहिए – एक बहुत पुरानी कहावत है घर ही इंसान का स्वर्ग होता है। पर यह जरूरी नहीं है कि हर घर स्वर्ग जैसा हो.

हर घर में सुख या दुख आते जाते रहते हैं. पर कभी-कभी ऐसा होता है कि किसी घर में दुख, संकट या तकलीफे इतनी ज्यादा बढ़ जाती है कि वह घर नर्क के समान हो जाता है। इसके कई सारे कारण होते हैं जैसे कि वास्तु दोष, ग्रह दोष, बुरा समय, श्राप, बुरी नजर लगना आदि।

जी हां अगर आपके घर में किसी भी प्रकार का छोटा सा भी वास्तु दोष हो तो यह मान के चलिए कि आपके घर पर आने वाली खुशियां भी आपके घर के चौखट से वापस चले जाती है।

आज हम आपके लिए जो वास्तु के टिप्स लेकर आए हैं उसमें हम आपको बताएंगे कि आपके बेडरूम का कलर कैसा होना चाहिए ताकि आपके घर के हर सदस्यों के रिश्ते आपस में मजबूत रहें और आपके घर में खुशियां बरकरार रहे.

वास्तु के अनुसार घर के बेडरूम की अहमियत

बेडरूम का कलर कैसा होना चाहिए
बेडरूम का कलर कैसा होना चाहिए

किसी भी घर में बेडरूम सबसे अहम कमरा होता है जहा घर का हर सदस्य दिन भर के काम के थकान को दूर करने के लिए आराम करता है या घर से काम के लिए निकलने से पहले तैयारी करता है या फिर रात को सोता है.

इसके अलावा भी हर इंसान के कई सारे ऐसे पर्सनल काम होते हैं जिनको वह अपने बेडरूम में ही करना ज्यादा पसंद करता है यही एक वजह है कि घर के बेडरूम में हमें हमेशा वास्तु का ध्यान ज्यादा रखना चाहिए, क्योंकि अगर बेडरूम के वास्तु में थोड़ी सी भी गलती होती है तो इसका सीधा असर उस घर में रहने वालों के रिश्तो पर पड़ता है.

वास्तु के अनुसार आपका घर का बैडरूम कैसा होना चाहिए, आपके बेडरूम में कौन सी चीज किस जगह होनी चाहिए और कौन सी चीज नहीं होनी चाहिए, आपके बेडरूम का कलर कांबिनेशन किस प्रकार का होना चाहिए इन सब चीजों में वास्तु का ध्यान रखना बहुत ज्यादा जरूरी है.

अगर आपके घर के बेडरूम का वास्तु सही है तो यह मान कर चलिए कि आपके घर के हर सदस्यों का रिश्ता आपस में मजबूत रहेगा और घर का जो स्वामी होता है उसके जीवन पर किसी भी प्रकार की कोई भी आपदा या अनहोनी नहीं आती है.

रंगो का वास्तु शास्त्र में महत्व

रंगो का वास्तु शास्त्र में महत्व
रंगो का वास्तु शास्त्र में महत्व

बेडरूम के कलर कॉन्बिनेशन का ध्यान रखना इसलिए जरूरी होता है क्योंकि वास्तु के अनुसार कुछ रंगों को अति शुभ बताया गया है, जिनका इस्तेमाल अगर अब अपने घर या बेडरूम में करते हैं तो उस से घर में सकारात्मक ऊर्जा का तो संचार होता ही है साथ ही साथ घर के सदस्यों का मन भी शांत रहता है और आपस में प्रेम संबंध भी बने रहते हैं।

तो चलिए जान लेते हैं की वास्तु के अनुसार आपके घर के बेडरूम का कलर कैसा होना चाहिए और ऐसे कौन से नियम है जिनके अनुसार आप अपने बेडरूम का वास्तु दोष दूर कर सकते है.

वास्तु के अनुसार कौन से रंग होते है शुभ

सबसे पहले यह जान लेते हैं कि वास्तु के अनुसार कौन से ऐसे रंग है जो घर के लिए शुभ होते हैं.

  • हल्का नारंगी रंग
  • गुलाबी
  • आसमानी नीला
  • बैंगनी
  • हरा
  • हल्का भूरा
  • सफेद

आइए अब यह जान लेते हैं कि किस रंग का उपयोग अपने बेडरूम के लिए करे और किस रंग का इस्तमाल ना करे।

  1. एक बात का हमेशा ध्यान रखिए कि घर में कभी भी पीला, काला या लाल रंग का उपयोग ना करें. इस रंग से बचना चाहिए क्योंकि यह रंग मंगल, सूर्य, राहु और शनि का प्रतिनिधित्व करते हैं और इससे घर में अशांति का माहौल उत्पन्न होता है.

2. घर के बेडरूम में हमेशा गुलाबी, आसमानी नीला या हरे रंग का प्रयोग ज्यादा करना चाहिए क्योंकि यह रंग वास्तु के हिसाब से शुभ माने गए हैं.

3. अगर घर में बच्चों का बेडरूम अलग है तो उनके कमरों के लिए नीला और हरा रंग को शुभ माना गया है.

4. घर का जो मुख्य बेडरूम होता है उसकी दिशा दक्षिण – पश्चिम में होनी चाहिए और हो सके तो उस बेडरूम मे नीले रंग का प्रयोग उत्तम माना गया है.

5. बेडरूम की चारों दीवारों में हमेशा एक ही प्रकार के रंग होने चाहिए, अलग-अलग रंग होने से यह अशुभ माना गया है इससे घर के सदस्यों के रिश्तो में तनाव बढ़ता है।

6. घर के बेडरूम की दीवारों में कभी भी लाल रंग का उपयोग नहीं करना चाहिए, क्योंकि यह घर के सदस्यों को नर्वस करता है और यह खतरे का संकेत भी होता है. आप में से कुछ लोग जानते ही होंगे कि लाल रंग बहादुरी और शक्ति का प्रतीक प्रतीक होता है और लाल रंग की वजह से घर के सदस्यों के दिमाग पर इसका असर तेजी से होता है.

7. अगर आप चाहते हैं कि आपके घर के सदस्यों में सुख शांति और समृद्धि बनी रहे तो हमेशा बेडरूम में आसमानी नीला रंग का उपयोग करना चाहिए.

8. घर के हर सदस्यों में अच्छे तालमेल के लिए घर के बेडरूम में सफेद रंग का उपयोग करना सबसे उत्तम माना गया है, क्योंकि सफेद रंग सुकून, सुंदरता, पवित्रता और शांति का प्रतीक होता है.

9. जिन जोड़ों की नई-नई शादी हुई है उन्हें अपने शयनकक्ष यानी बेडरूम में बैंगनी रंग का इस्तेमाल करना चाहिए, इससे उनके रिश्तो में मजबूती आती है और तनाव उत्पन्न होने के भी आसार खत्म हो जाते हैं।

तो यह थी वास्तु के अनुसार बेडरूम का कलर कैसा होना चाहिए इसकी संपूर्ण जानकारी अगर आपको ऊपर बताई गई किसी भी जानकारी में कुछ संदेह है या कोई बात समझ में नहीं आई हो तो आप निसंकोच होकर हम से संपर्क कर सकते हैं.

घर में सुख शांति के लिए फिटकरी के अचूक उपाय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *