Raksha mantra. स्वयं और घर की रक्षा के लिए रक्षा मंत्र |

Raksha mantra का उपयोग कैसे करे –

Raksha mantra
Raksha mantra (Kavach)

आज के इस भाग दौड़ भरी दुनिया में जितनी कम सकारात्मक ऊर्जा हैं उनसे भी कहीं ज्यादा नकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। यह नकारात्मक ऊर्जा कई प्रकार से मनुष्यों को नुकसान पहुंचाती है फिर चाहे वह मानसिक हो या शारीरिक । नकारात्मक ऊर्जा एक कई तरीके से उत्पन्न होती है जैसे कि ईर्ष्या, घृणा, शत्रुता, छल – कपट, बुरी नजर के दोष, ऊपरी बाधा, भूत प्रेत, जादू टोना या टोटका इत्यादि नकारात्मक ऊर्जा मनुष्य को मानसिक और शारीरिक तौर पर कमजोर कर देती हैं। कई बार ऐसा भी देखा गया है कि जिस घर में अगर साफ-सफाई ढंग से ना होती हो या नियमित तौर पर पूजा-पाठ ना हो तो भी उस घर में नकारात्मक ऊर्जा बढ़ जाती है जिस वजह से घर में रोज रोज ग्रह कलह होना पैसों की मंदी होना व्यापार व्यवसाय ठप हो जाना आदि परेशानियां आने लगती है (raksha mantra).

क्यों जरूरी है रक्षा कवच मंत्र –

आमतौर पर इंसान इन सब परेशानियों को अपनी किस्मत मानकर इन परेशानियों के साथ जीना शुरु कर देता है और अपना सारा जीवन परेशानियों से संघर्ष करते हुए बिता देता है, पर अगर समय रहते इंसान संयम के साथ ज्योतिष का सहारा लेता है तो इन सभी परेशानियों का सामना आसानी से कर सकता है | हमारे ज्योतिष शास्त्र में बहुत सारे ऐसे रक्षा मंत्र / raksha mantra दिए गए हैं जिनकी मदद से घर में ऑफिस में या जीवन में आने वाली परेशानियां जो नकारात्मक ऊर्जाओं के कारण होती है उनको समाप्त किया जा सकता है।

आज के इस अध्याय में हम आपके लिए ऐसे ही दो शाबर रक्षा कवच मंत्र / raksha mantra लेकर आए हैं जिसका उपयोग करके आप अपने स्वयं की परेशानी या अपने प्रिय जन परिवार इन सब की रक्षा नकारात्मक शक्तियों से लड़ने में कर सकते हैं। इन शाबर रक्षा कवच मंत्र का उपयोग करके आप अपने घर में भी रक्षा कवच की स्थापना कर सकते हैं जिसके बाद आपके घर के ऊपर ना तो कोई ऊपरी बाधा नजर लगना जादू टोना टोटका इन सब किसी चीजों का असर नहीं होगा ।

अपने स्वास्थ्य और शरीर के रक्षा के लिए शाबर रक्षा मंत्र / raksha mantra

यह शाबर रक्षा मंत्र / raksha mantra बहुत ही अचूक और शक्तिशाली मंत्र है इस मंत्र को उपयोग आप स्वयं के लिए कर सकते हैं | जब कभी भी आपको लगे कि आपके काम बिगड़ रहे हैं या आपका स्वास्थ्य ठीक नहीं चल रहा है या किसी की नजर लगी है तो आप इस रक्षा कवच मंत्र का उपयोग कर सकते हैं यह रक्षा कवच तुरंत अपना असर दिखाती है और हर नकारात्मक उर्जा से आपको बचा के रखती है ।

रक्षा मंत्र / raksha mantra

ॐ नमः वज्र का कोठा
जिसमें पिण्ड हमारा पैठा
ईश्वर की कुंजी , ब्रह्मा का ताला
मेरे आठोंयाम का यती हनुमन्त रखवाला

इस रक्षा मंत्र / raksha mantra को उपयोग करने से पहले सर्वप्रथम आपको इसे 21 दिनों तक लगातार इस मंत्र का जाप करना पड़ेगा । मंत्र का जाप आप किसी भी दिन से चालू कर सकते हैं पर ध्यान रहे कि 21 दिनों तक लगातार मंत्र का जाप करते रहे बीच में जप ना तोड़े और मंत्र का जाप करते समय अपने सामने एक घी का दीपक अवश्य जलाकर रखें । जिस भी दिन से आप जब चालू करना चाहते हो उस दिन सुबह स्नान इत्यादि करके किसी एकांत स्थान पर बैठ जाएं और ऊपर दिए गए शाबर रक्षा कवच मंत्र का अधिक से अधिक बार जप करें वैसे तो निर्धारित सीमा जप करने की एक माला है यानी 108 बार ऐसा करते हुए 21 दिनों तक लगातार इस रक्षा कवच मंत्र का जप करें |

इसके बाद जब कभी भी आपको जरूरत पड़े आंख बंद करके इस मंत्र का 7 बार जाप करें ऐसा करने से इस मंत्र की वजह से आपके शरीर पर एक रक्षा का कवच बन जाएगा और कोई भी ऊपरी बाधा या बुरी नजर, जादू टोना, टोटका, काला जादू इन सब का कोई भी प्रभाव आप पर नहीं होगा ।

घर की रक्षा के लिए रक्षा कवच मंत्र / raksha mantra –

इस रक्षा मंत्र का उपयोग करके आप अपने पूरे घर के ऊपर एक रक्षा कवच की स्थापना कर सकते हैं जिससे आपका पूरा घर और पूरा परिवार सुरक्षित रहेगा । अगर आपके घर में रोज रोज गृह कलह होता है या घर में पैसों की बरकत नहीं होती, बच्चों की पढ़ाई ठीक नहीं चल रही, रोजगार में दिक्कत इन सब समस्याओं के लिए आप इस रक्षा कवच का उपयोग कर सकते हैं।

इस रक्षा कवच मंत्र / raksha mantra को शुरू करने के लिए सबसे पहले सोमवार के दिन से 7 दिनों तक लगातार 21 बार इस मंत्र का जप करें और मंत्र जप करते समय अपने सामने एक घी का दीपक जलाकर रखें, जब 7 दिनों तक आप का मंत्र जप पूरा हो जाए तब आठवें दिन सुबह अपने दाहिने हाथ की मुट्ठी में थोड़े से सरसों के दाने लेकर उसके ऊपर इस मंत्र को 21 बार पढ़ते हुए 21 बार फूंक मारकर अपने घर के चारों कोने में थोड़ा-थोड़ा गिरा दें ध्यान रहे कोई भी कोना ना छूटे यानी कि उत्तर, दक्षिण, पूरब, पश्चिम, चारों कोने में सरसों के दाने के छिड़क दें |

रक्षा मंत्र / raksha mantra

हाट चलते बाट बांधू
बाट चलते घाट बांधू
स्वर्ग में राजा इन्द्र बांधू
पाताल में वासुकी बांधू
शिकाली बाँध तोड़ के मछली
मारू टेंगरामाछ मारी गाछ
फुट डाल कारू फूले उठे तार
खाईबन किते उजार आये
आगे बांधू पाछू आये
पाछू बांधू बाँये दाँये बांधू
यह बंधन को बाँधत ईश्वर
ईश्वर महादेव बांधू देवे हित घर में
सहदेव हम सोय रहेउँ
अकेला लोहे के दो कला
माँस कर पत्थर हावेला
काटे कूट बड़े पिता धर्म की दुहाई

ऐसा करने से आपके घर के चारों कोनों में एक रक्षा कवच की स्थापना हो जाएगी और बड़े से बड़े नकारात्मक शक्ति काला जादू टोना, टोटका, बुरी नजर, इन सब का असर आपके घर के ऊपर या परिवारजनों के ऊपर नहीं होगा ।

ऊपर बताए गए दोनों रक्षा कवच मंत्र / raksha mantra स्वयं में सिद्ध मंत्र है और सदियों से उपयोग किए जा रहे हैं पर दोनों मंत्रों का उपयोग करते समय एक बात का हमेशा ध्यान रखें कि मन में विश्वास सदैव बना कर रखें और खुद के अंदर सकारात्मक ऊर्जा लाने के बाद ही मंत्रों का जप करें अन्यथा आपका मंत्र जप असफल हो जाएगा । मंत्रों की ऊर्जा तभी सफल होती है जब व्यक्ति के अंदर सकारात्मक ऊर्जा हो और उसके अंदर यह विश्वास हो कि जो मंत्र को सिद्ध करने जा रहा है या जिस मंत्रों का उपयोग करने जा रहा है वह उसे लाभ पहुंचाएंगे। किसी भी मंत्रों का जाप करते समय मन में कोई शंका नहीं रखें |

यह भी पढ़े –

शनि देव की कृपा पाने के लिए शनि यंत्र |
निम्बू का वशीकरण टोटका जो हमेशा सफल होता है |
पति वशीकरण के उपाय और विधि |
नमक के टोटके और सावधानी |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *